1. हिन्दी समाचार
  2. विदेश
  3. अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन जब शपथ लेंगे तो उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती कोरोना महामारी होगी

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन जब शपथ लेंगे तो उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती कोरोना महामारी होगी

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

वाशिंगटन: यह अध्ययन जर्नल साइंटिफिक में प्रकाशित हुआ है। इसमें जानकारी दी गई है कि अभी जो बाइडन को राष्ट्रपति पद की शपथ लेने में लगभग दो माह का समय है। जनवरी माह के अंत तक अमेरिका में कोरोना के दो करोड़ से ज्यादा मामले हो जाएंगे। अमेरिका में इस समय लगभग एक करोड़ बीस लाख से ज्यादा मामले हैं।

दोगुना मामले होने की भविष्यवाणी इस आधार पर सही मानी जा रही है, क्योंकि जनता सामाजिक संबंधों के कारण एक दूसरे से जुड़ी हुई है। ऐसी स्थिति में अनजान लोगों के संपर्क की स्थिति भी बनी रहती है। शारीरिक दूरी और कोरोना के मामलों की संख्या एक दूसरे से संबंधित है। यही कारण है कि आने वाले दिनों में छुट्टियों की स्थिति होने पर कोरोना के मामले भी बढ़ेंगे।

ब्रिटेन में एक दिन में 18 हजार से ज्यादा मामले बढ़ गए। अब तक कुल मामलों की संख्या 15 लाख से ज्यादा हो गई है। मरने वालों का आंकड़ा भी एक दिन में चार सौ से ज्यादा का रहा। ब्रिटेन में मामलों में कमी न होने के कारण क्रिसमस कुछ छूट के प्रस्ताव वापस ले लिए गए हैं।

कोरोना महामारी से जुड़े प्रमुख बिंदु

 

  • ब्राजील में भी कोरोना के मामलों में कमी नहीं हुई है। पिछले 24 घंटों के दौरान यहां पर 18 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए और 194 लोगों की मौत हो गई।
  • जर्मनी में दस हजार से ज्यादा नए मामले एक दिन में आए। संक्रमण की दूसरी लहर में यहां पर कुछ स्थानों पर लॉकडाउन चल रहा है।
  • रूस में एक दिन में 25 हजार से ज्यादा नए मामले मिले हैं। मास्को में रिकॉर्ड साढ़े हजार मामले 24 घंटे में मिले। यहां कोरोना महामारी शुरू होने के बाद से लगभग पांच लाख संदिग्ध मरीजों की निगरानी चलती रही है।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...