Home उत्तराखंड देहरादून: राष्ट्रपिता गांधी और लाल बहादुर शास्त्री को किया गया याद, दून सीएमओ कार्यालय में सफाई कर्मियों ने किया ध्वजारोहण

देहरादून: राष्ट्रपिता गांधी और लाल बहादुर शास्त्री को किया गया याद, दून सीएमओ कार्यालय में सफाई कर्मियों ने किया ध्वजारोहण

0 second read
0
0

देहरादून: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री को उनकी जयंती पर याद किया गया। भरत मंदिर इंटर कॉलेज के तत्वावधान में राष्ट्रध्वज फहराकर पुष्पांजलि अर्पित की गई। प्रधानाचार्य मेजर गोविंद सिंह रावत ने महात्मा गांधी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि महात्मा गांधी अहिंसा के पुजारी थे।

उनका कहना था कि जो व्यक्ति अपने जीवन में अपने कर्तव्य निष्ठा और ईमानदारी के साथ करता है, वह सबसे बड़ी राष्ट्र सेवा होती है। एक सच्चे सेवक की विशेषता होती है कि वह अपने जीवन को धन्य बनाएं.

स्वर्गीय लाल बहादुर शास्त्री को याद करते हुए मेजर गोविंद सिंह रावत ने कहा वह सामान्य परिवार से देश के प्रधानमंत्री बने। हम लोगों को भी अपने कर्तव्य का पालन करना चाहिए, जिससे हम भी देश के सच्चे नागरिक कहलाने के अधिकारी बन सके।

इस अवसर पर विद्यालय के वरिष्ठ प्रवक्ता यमुना प्रसाद, त्रिपाठी, लखविंदर सिंह, शिव प्रसाद बहुगुणा, जितेंद्र बिष्ट, डॉ. सुनील दत्त थपलियाल, रंजन अंथवाल, संजीव कुमार, संजीव चौधरी, आदि ने अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर विद्यालय परिसर में एनसीसी, एनएसएस, शिक्षक और शिक्षणेत्तर कर्मचारियों के द्वारा स्वच्छता अभियान चलाया गया।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और भूतपूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री कि जन्मदिन पर इनरव्हील क्लब ऋषिकेश द्वारा फिट इंडिया फ्रीडम रन का आयोजन किया गया। इसके तहत तीन किलोमीटर साइकिल और पैदल दौड़ आयोजित की गई, जिसमें में 20 छात्र-छात्रा शामिल हुए।

इनरव्हील क्लब की अध्यक्ष सलोनी गोयल और पूर्व अध्यक्ष रेखा गर्ग ने हरी झंडी दिखाकर दौड़ प्रारंभ की। श्यामपुर सांई मंदिर के समीप खेल मैदान खैरी कलां गांव श्यामपुर के अंदर से होते हुए साईं मंदिर में ही दौड़ समाप्त हुई।

राष्ट्रपिता  महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती के अवसर पर दून के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अनूप कुमार डिमरी ने एक अभिनव पहल की है।

डॉ. डिमरी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय भवन में ध्वजारोहण करने के लिए कार्यालय में तैनात तीन सफाई कर्मचारियों को आमंत्रित किया और उनके हाथों से ध्वजारोहण करवाया। ध्वजारोहण के बाद मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने अपने संबोधन में कहा कि महात्मा गांधी के बताए मार्ग पर चलकर और उनके सिद्धांतों का अनुसरण करते हुए ही हम उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि दे सकते हैं।

समाज के अंतिम व्यक्ति का सम्मान करके ही हम गांधी के आदर्शों का सम्मान कर सकते हैं। पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी को याद करते हुए उन्होंने कहा कि शास्त्री जी के जीवन से हमें प्रेरणा लेनी चाहिए कि हम अपने कर्तव्यों का निर्वहन निःस्वार्थ भाव से करते हुए देश की सेवा करें।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने इस अवसर पर सभी कर्मचारियों और अधिकारियों को तंबाकू उत्पादों का सेवन न करने व कार्यालय परिसर को तम्बाकू मुक्त करने की शपथ भी दिलवाई।इस अवसर पर अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. संजीव दत्त, डॉ. यूएस चौहान, डॉ. कैलाश गुंज्याल, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी बीडी जोशी सहित समस्त अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे। ध्वजारोहण करने वाले कर्मचारियों में जसविंदर, कमल और सतीश शामिल रहे।

Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.