Home उत्तराखंड देहरादून: हाथरस की बेटी के स्‍वजनों को न्‍याय दिलाने के लिए कांग्रेस ने दिया धरना, यूपी सरकार को बर्खास्‍त की मांग की

देहरादून: हाथरस की बेटी के स्‍वजनों को न्‍याय दिलाने के लिए कांग्रेस ने दिया धरना, यूपी सरकार को बर्खास्‍त की मांग की

0 second read
0
2

देहरादून: यूपी के हाथरथ में युवती के साथ सामूहिक दुष्‍कर्म के बाद मौत के मामले में देशभर में नागरिकों में आक्रोश है। जगह जगह पीडि़त परिवार को न्‍याय दिलाने की मांग की जा रही है। उत्‍तराखंड महानगर कांग्रेस कार्यकर्त्‍ताओं ने भी गुरुवार यूपी सरकार पर आरोपितों पर कार्रवाई न करने के विरोध में गांधी पार्क के समक्ष धरना दिया।

महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लाल चंद शर्मा कहा कि सामूहिक दुष्‍कर्म व हत्या का शिकार हुई बेटी के स्‍वजनों को न्याय दिलाने और यूपी सरकार को बर्खास्त करने की मांग को लेकर धरना दिया जा रहा है।

इस दौरान राहुल प्रियंका गांधी सेना के कार्यकर्त्‍ताओं ने भी घटना के आरोपितों को सख्‍त कार्रवाई की मांग की। इसके बाद जिलाधिकारी कार्यालय जाकर जिला प्रशासन के माध्‍यम से कायकर्त्‍ताओं ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन सौंपा।

जिसमें यूपी सरकार को बर्खास्त करने, पीड़िता को न्याय दिलाने और घटना में साथ देने वाले पुलिस अधिकारीयों के विरुद्ध ठोस कर्रवाई की मांग की गई। संगठन के प्रदेश अध्यक्ष मदन लाल ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार में इस तरह के मामले बढ़ रहे हैं, जिन पर अंकुश नहीं लगाया जा रहा है।

देहरादून में आम आदमी पार्टी कार्यकर्त्‍ताओं ने इस मामले में उत्‍तर प्रदेश सरकार और पुलिस के के खिलाफ प्रदर्शन किया। कार्यकर्त्‍ताओं ने कहा कि यदि सरकार इस तरह के मामले में शीघ्र कार्रवाई करती तो घटना पर अंकुश लगाया जा सकता था। लेकिन, पुलिस इस तरह की घटना में आरोपितों को बचाने के बजाए उनका साथ देकर साक्ष्‍य छिपाने की कोशिश कर रही है।

ऋषिकेश में दुष्कर्म और हत्या के खिलाफ उत्तराखंड दलित शोषित विकास मंच ने उत्तर प्रदेश पुलिस और सरकार का पुतला फूंका। मंच के प्रदेश अध्यक्ष जयपाल जाटव के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने उत्तर प्रदेश सरकार और पुलिस के विरुद्ध प्रदर्शन किया।

कार्यकर्ताओं ने कहा कि इस कांड में यूपी पुलिस की मिलीभगत रही है। नहीं तो रात दो बजे अंत्येष्टि किस आधार पर की गई। इस मौके पर सुनील गोस्वामी, जतिन जाटव, अशोक विश्वकर्मा, सुलेख चंद,प्रवीण जाटव, विनय दुबे,सरस साहनी, कुमकुम साहनी, महादेव यादव, राम सिंह, जोगिंदर बाबा साहनी, अकलू साहनी, राम साहनी आदि मौजूद रहे।

Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.