Home ताजा खबर कृषि बिल पर बवाल, कैबिनेट मंत्री हरसिमरत कौर बादल का इस्तीफा, पीएम मोदी ने कही कही ये बात…

कृषि बिल पर बवाल, कैबिनेट मंत्री हरसिमरत कौर बादल का इस्तीफा, पीएम मोदी ने कही कही ये बात…

1 min read
0
13

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री हरसिमरत कौर बादल का इस्तीफा मंजूर कर लिया है। तीन कृषि विधेयकों को लोकसभा में पारित कराए जाने से नाराज हरसिमरत ने गुरुवार को मंत्रिपद से इस्तीफा दे दिया था। प्रधानमंत्री के कहने पर राष्ट्रपति ने हरसिमरत कौर का इस्तीफा तुरंत मंजूर कर लिया। राष्ट्रपति ने कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय का अतिरिक्त जिम्मा सौंपा है।

विधेयकों के खिलाफ जारी विरोध सड़कों से निकलकर अब संसद और सरकार तक पहुुंच गया है। कृषि संबंधी तीन विधेयकों से जुड़े प्रावधानों पर नाराजगी जताते हुए केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने गुरूवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था। इससे पहले लोकसभा में विधेयकों पर चर्चा के दौरान पार्टी अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने उनके इस्तीफे की घोषणा की थी। हालांकि उन्होंने कहा कि पार्टी एनडीए सरकार को समर्थन जारी रखेगी।

हरसिमरत कौर ने इस्तीफे की जानकारी देते हुए ट्वीट किया, मैंने किसान विरोधी अध्यादेशों और विधेयकों के खिलाफ कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया। किसानों की बहन और बेटी बनकर उनके साथ खड़े रहने पर मुझे गर्व है।

किसानों को गुमराह करने में लगी बहुत सी ताकतें-पीएम मोदी

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर के इस्तीफे के बाद पीएम मोदी ने कृषि बिल को लेकर किसानों को भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि किसानों को भ्रमित करने में बहुत सी शक्तियां लगी हुई है। पीएम मोदी ने ट्वीट किया, किसानों को भ्रमित करने में बहुत सारी शक्तिायां लगी हुई है। मैं अपने किसान भाइयों और बहनों को आश्वत करता हूं कि एमएसपी और सरकारी खरीद की व्यवस्था बनी रहेगी। ये विधेयक वास्तव में किसानों को कई और विकल्प प्रदान कर उन्हें सही मायने में सशक्त करने वाले है। जय किसान

कृषि विधेयक बिल किसानों की रोज़ी-रोटी पर हमला-राहुल गांधी

कृषि विधेयक को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कृषि बिल किसानों की रोजी-रोटी पर हमला है। राहुल ने ट्वीट किया, किसाना का मोदी सरकार से विश्वास उठ चुका है। क्योंकि शुरू से मोदी जी की कथनी और करनी में फ़र्क रहा है-नोटबंदी, गलत जीएसटी, और डीजल पर भारी टैक्स। उन्होंने कहा कि जागृत किसान जानता है-कृषि विधेयक से मोदी सरकार बढ़ाएगी अपने मित्रों का व्यापार और करेंगी किसान की रोजी-रोटी पर वार।

Load More In ताजा खबर
Comments are closed.