1. हिन्दी समाचार
  2. विदेश
  3. उत्तर कोरिया के इस मिसाइल परीक्षण से अमेरिका के साथ चरम पर पहुंचा तनाव, 1500 किमी दूर…

उत्तर कोरिया के इस मिसाइल परीक्षण से अमेरिका के साथ चरम पर पहुंचा तनाव, 1500 किमी दूर…

उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच बढ़ता तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है। वहीं उत्तर कोरिया लगातार ऐसी हरकते कर रहा है, जिससे वो अमेरिका की गुस्सा को भड़का सके। और पूरी दुनिया तीसरे विश्व युद्ध की आग में झोंका जा सकें। हालांकि अमेरिका उत्तर कोरिया के इन सभी हरकतों को दरकिनार कर रहा है। वहीं उत्तर कोरिया लगातार एक के बाद एक नई तकनीकी से लैस अपने मिसाइल की परीक्षण कर अमेरिका की सरदर्द बढ़ाने के साथ ही अपने ताकतों में इजाफा कर रहा है।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच बढ़ता तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है। वहीं उत्तर कोरिया लगातार ऐसी हरकते कर रहा है, जिससे वो अमेरिका की गुस्सा को भड़का सके। और पूरी दुनिया तीसरे विश्व युद्ध की आग में झोंका जा सकें। हालांकि अमेरिका उत्तर कोरिया के इन सभी हरकतों को दरकिनार कर रहा है। वहीं उत्तर कोरिया लगातार एक के बाद एक नई तकनीकी से लैस अपने मिसाइल की परीक्षण कर अमेरिका की सरदर्द बढ़ाने के साथ ही अपने ताकतों में इजाफा कर रहा है।

आपको बता दें कि उत्तर कोरिया के सनकी तानाशाह किम जोंग उन ने लंबी दूरी तक मार करने वाली क्रूज मिसाइल का परीक्षण किया है। जिसकी जानकारी उत्‍तर कोरिया की सरकारी मीडिया ने दी है। बताया जा रहा है कि इस क्रूज मिसाइल ने करीब 1500 किमी दूर अपने लक्ष्‍य पर सटीक हमला किया। उत्‍तर कोरिया ने इस मिसाइल को रणनीतिक हथियार करार देते हुए बेहद अहम करार दिया है। उधर, मिसाइल टेस्‍ट के बाद उत्‍तर कोरिया और अमेरिका के बीच तनाव काफी बढ़ गया है।

उत्‍तर कोरिया ने कहा कि इस मिसाइल परीक्षण के दौरान सत्‍तारूढ़ वर्कर्स पार्टी के नेता मौजूद थे। इसके अलावा उत्‍तर कोरिया के रक्षा क्षेत्र से जुड़े अधिकारी और वैज्ञानिक मौजूद थे। कोरियन सेंट्रल न्‍यूज एजेंसी ने जानकारी दी कि इस मिसाइल का परीक्षण 11 और 12 सितंबर को किया गया। उसने अपनी रिपोर्ट में कहा कि लंबी दूरी तक मार करने वाली क्रूज मिसाइल ने 7,580 सेकंड उड़ान भरकर 1500 किमी दूर अपने लक्ष्‍य का सटीक भेदन किया।

किम जोंग उन की बहन की अमेरिका-दक्षिण कोरिया को चेतावनी

आपको बता दें कि उत्‍तर कोरिया ने यह मिसाइल परीक्षण ऐसे समय पर किया है जब 16 से 26 अगस्‍त तक दक्षिण कोरिया और अमेरिका ने युद्धाभ्‍यास किया है। इस युद्धाभ्‍यास के दौरान उत्‍तर कोरिया भड़क गया था और उसने वॉशिंगटन तथा सोल पर क्षेत्र की सुरक्षा को ताक पर रखने का आरोप लगाया था। तानाशाह किम जोंग उन की बहन किम यो जोंग ने अमेरिका और दक्षिण कोरिया को चेतावनी भी दी थी।

इससे पहले अमेरिका के सैन्‍य जनरल ग्‍लेन वानहेर्क ने पत्रकारों से कहा था कि अमेरिका उत्‍तर कोरिया की ओर से दागी जाने वाली किसी भी मिसाइल का जवाब देने के लिए तैयार है। इससे पहले पिछले दिनों दक्षिण कोरिया ने भी पहली बार अत्‍याधुनिक किलर पनडुब्‍बी की मदद से समुद्र के नीचे से मिसाइल (SLBM) दागने में सफलता हासिल की थी। यह पनडुब्‍बी एयर इंडिपेंडेंट पावर (AIP) से लैस है और दुश्‍मन को अपनी भनक दिए बिना कई दिनों तक समुद्र के जल में छिपी रह सकती है। गैर परमाणु ऊर्जा से चालित यह पनडुब्‍बी KSS-III स्‍टील्‍थ तकनीक से लैस है।

आपको बता दें कि बहुत समयों पहले अमेरिका ने उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षणों पर रोक लगाई थी। इसके बावजूद भी उत्तर कोरियो के सनकी तानाशाह किम जोंग उन ने मिसाइल परीक्षणों को रोका नहीं, बल्कि एक के बाद कई मिसाइल के परीक्षण किये।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...