1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. यूपी के निजी स्कूल में छात्रा की संदिग्ध मौत, छत से गिरकर गई जान; होमवर्क पूरा नहीं करने पर शिक्षक ने लगाई थी डांट

यूपी के निजी स्कूल में छात्रा की संदिग्ध मौत, छत से गिरकर गई जान; होमवर्क पूरा नहीं करने पर शिक्षक ने लगाई थी डांट

उत्तर प्रदेश के बस्ती शहर से एक छात्रा की संदिग्ध हालत में मौत की खबरें सामने आई है। जिसे लेकर प्रशासन और अधिकारी जांच में जुटे हुए है। आपको बता दें कि बस्ती शहर के शिवा कॉलोनी में स्थित प्रैक्सिस विद्यापीठ में बृहस्पतिवार की सुबह कक्षा नौ की एक छात्रा संदिग्ध परिस्थितियों में छत से गिर कर गंभीर रूप से घायल हो गई।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के बस्ती शहर से एक छात्रा की संदिग्ध हालत में मौत की खबरें सामने आई है। जिसे लेकर प्रशासन और अधिकारी जांच में जुटे हुए है। आपको बता दें कि बस्ती शहर के शिवा कॉलोनी में स्थित प्रैक्सिस विद्यापीठ में बृहस्पतिवार की सुबह कक्षा नौ की एक छात्रा संदिग्ध परिस्थितियों में छत से गिर कर गंभीर रूप से घायल हो गई। इसके बाद स्कूल प्रबंधन से जुड़े लोग तुरंत उसे जिला अस्पताल ले गये, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

स्कूल के प्रबंधक प्रशांत पांडेय का बयान

स्कूल के प्रबंधक प्रशांत पांडेय का कहना है कि स्कूल की प्रथम तल की छत पर सीलन के कारण फिसलकर छात्रा छत की रेलिंग से नीचे जा गिरी, गंभीर चोट लगने से उसकी मौत हो गई। घटना की जानकारी सबसे पहले उसके परिजन को दी गई।

कोतवाली शिवाकांत मिश्रा ने बताया

वहीं, मौके पर पहुंचे कोतवाल शिवाकांत मिश्रा ने बताया कि पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। छात्रा किन परिस्थितियों में छत से गिरी, इसकी छानबीन शुरू कर दी गई है। आजमगढ़ जिले के अतरौली थानांतर्गत सघनपट्टी निवासी राजेश कुमार परिवार के साथ शहर के मालवीय रोड पर एलआईसी के पास किराए के मकान में रहते हैं।

वह एक मेडिकल सेंटर में काम करते हैं। उनकी बेटी सौम्या (14) ने इसी वर्ष शिवा कॉलोनी स्थित प्रैक्सिस विद्यापीठ में कक्षा नौ में दाखिला लिया था। गुरुवार की सुबह करीब साढ़े दस बजे स्कूल की छत से संदिग्ध में हाल में गिरकर घायल होने के बाद उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, लेकिन जान नहीं बच सकी।

आजमगढ़ की रहने वाली थी छात्रा

कोतवाल शिवाकांत मिश्रा के मुताबिक, अभी तक छात्रा के परिजनों की तरफ से कोई तहरीर नहीं दी गई है। बातचीत में यह सामने आया कि वह गुरुवार को होमवर्क करके स्कूल नहीं आई थी। इस पर उसे डांट पड़ी थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद स्थिति और भी स्पष्ट हो सकेगी। स्कूल स्टाफ समेत अन्य से पूछताछ कर घटनाक्रम के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। हर पहलू की गंभीरता से जांच-पड़ताल की जा रही है।

 प्रबंधक प्रशांत पांडेय ने बताया दुखद

प्रबंधक प्रशांत पांडेय ने कहा कि यह दुखद घटना है। बच्चों को बेहतर शिक्षा के लिए शिक्षक दबाव बनाते हैं, मगर उनकी मंशा बच्चों के प्रति बेहद सरल होती है। कहा कि विद्यालय में सभी शिक्षकों को ये निर्देश है कि सजा के तौर पर किसी भी बच्चे की पिटाई नहीं करेंगे।

सीओ सिटी शक्ति सिंह का बयान

सीओ सिटी शक्ति सिंह ने कहा कि विद्यालय प्रबंधन व शिक्षकों से बातचीत की गई है। उनके अनुसार छात्रा को कोई ऐसी सजा नहीं दी गई, जिससे वह आत्महत्या करे। उन्होंने कहा कि परिवार के लोगों से भी बात हुई है। वह भी बहुत कुछ नहीं बता रहे हैं। वैसे अभी तक इस मामले में परिवार वालों ने न तो कोई तहरीर दी है और न ही मुकदमा दर्ज कराया गया है। छात्रा का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। फिलहाल, अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं हो सका है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...