Home mumbai महाराष्ट्र में सियासी हलचल के बीच शरद पवार का बड़ा बयान, देशमुख को किया हटाने से इंकार!, कहा नहीं पड़ेगा असर…

महाराष्ट्र में सियासी हलचल के बीच शरद पवार का बड़ा बयान, देशमुख को किया हटाने से इंकार!, कहा नहीं पड़ेगा असर…

2 second read
0
95

नई दिल्ली : एंटिलिया केस मामले में लगातार घिरती महाराष्ट्र सरकार एकबार फिर खुद को बचाने में जुट गई है। जिसे लेकर अब NCP प्रमुख शरद पवार का बड़ा बयान सामने आया है। जहां उन्होंने इस मामले से सरकार की छवि खराब होने से इंकार किया है। वहीं उन्होंने इस मामले में सामने आ रहें महाराष्ट्र गृहमंत्री अनिल देशमुख को भी तुरंत हटाने से इंकार किया है।

प्रेस को संबोधित करते हुए एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि  देशमुख पर लगे आरोप गंभीर हैं लेकिन उनके इस्तीफे पर विचार मुख्यमंत्री करेंगे। पवार ने कहा कि पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने गृह मंत्री अनिल देशमुख पर गंभीर आरोप लगाए हैं। देशमुख पर आरोप लगे लेकिन प्रमाण नहीं दिया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि पत्र में यह नहीं कहा गया है कि पैसा किसके पास गया। साथ ही पत्र पर परमबीर सिंह के दस्तखत नहीं हैं।

सचिन वाजे की बहाली पर उन्होंने कहा कि एपीआई सचिन वाजे की बहाली मुख्यमंत्री ने नहीं बल्कि पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने की थी। मुख्यमंत्री के पास फैसला लेने का अधिकार है। इस संबंध में जांच के बाद ही मुख्यमंत्री कोई फैसला लेंगे। उन्होंने कहा कि इस आरोप की वजह से सरकार की छवि पर कोई असर नहीं पड़ेगा। हालांकि सरकार को अस्थिर करने की कोशिश हो सकती है।

शरद पवार ने कहा कि अनिल देशमुख के बारे में अगले एक-दो दिन में फैसला लिया जा सकता है। सीएम और एनसीपी नेताओं के साथ बातचीत के बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा। हालांकि उन्होंने इस प्रकरण की जूलियो रिबेरो से इसकी जांच कराई जाए। जूलियो रिबेरो महाराष्ट्र के चर्चित और बेदाग छवि वाले पुलिस अफसर रहे हैं।

बता दें कि इससे पहले एंटीलिया केस में पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह की चिट्ठी के बाद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उद्धव सरकार पर निशाना साधते हुए पूछा कि सचिन वाजे को किसके दबाव में लाया गया। शिवसेना के, सीएम के या फिर शरद पवार के?

आपको बता दें कि एक प्राइवेट न्यूज चैनल से बातचीत करते हुए मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने कहा कि सीएम उद्धव ठाकरे को लिखी गई चिट्ठी सही है और वो चिट्ठी खुद मैंने ही भेजी है। जिस मेल के जरिए लेटर भेजा गया है वो मेल आई-डी भी मेरी ही है। हालांकि इस दौरान परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र गृह मंत्री पर किसी भी तरह की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

Load More In mumbai
Comments are closed.