Home उत्तर प्रदेश शाहजहांपुर – भाजपा विधायक ने किया धान क्रय केंद्र का निरीक्षण

शाहजहांपुर – भाजपा विधायक ने किया धान क्रय केंद्र का निरीक्षण

1 second read
0
7

शाहजहांपुर- केंद्र सरकार और प्रदेश की सरकार भले ही किसानों की आय दोगुनी करने की बात करती हो, लेकिन देश में किसानों की बदहाली किसी से छिपी नहीं है। दिन रात मेहनत करके किसान फसल को तैयार करता है। उसके बाद भी क्रय केंद्रों पर ले जाने के बाद उसे अधिकारी यह बहाना बनाकर वापस लौटा देते हैं कि आपके धानो में नमी है।

इस बात की लगातार शिकायत मिलने के बाद भाजपा विधायक रोशन लाल वर्मा अचानक तिलहर मंडी धान क्रय केंद्र पर पहुंचे। जहां पर जानकारी करने के बाद भाजपा विधायक को पता लगा कि अभी तक सिर्फ 7 दिनों में कुछ ही कुंटल धान की तौल हुई है। जबकि सरकार ने रोज एक सेंटर पर 600 कुंटल धान तोलने के आदेश दिए हैं।

बता दें कि तिलहर धान क्रय केंद्रों पर किसानों से धान की खरीद न होने के हो हल्ला के बीच भाजपा विधायक रोशनलाल वर्मा नमी नापने की मशीन लेकर तिलहर मंडी परिषर में धान क्रय केंद्रों पर जा धमके। उन्होंने धीमी गति से हो रही धान खरीद पर केंद्र प्रभारियों को फटकार लगाई।

इस दौरान उन्होंने एसडीएम को बुलाकर उन्हें खरीद पर निगाह बनाये रखने के लिए कहा, किसानों द्वारा लगातार क्रय केंद्रों पर धान की खरीद न होने की शिकायतें की जा रही थीं। इसी को लेकर तिलहर विधायक रोशनलाल वर्मा तिलहर नवीन मंडी पहुंच गए।

उन्होंने सबसे पहले क्रय केंद्रों पर तौल की प्रतीक्षा में खड़े किसनों से बातचीत की। किसानों ने उन्हें बताया कि वह दो-तीन दिन से यहां रुके हैं, मगर अभी तक धान की खरीद नही हुई। केंद्र प्रभारी धान में नमी बताकर धान नही ले रहे हैं। विधायक ने उसी समय अपनी नमी नापने वाली मशीन मंगवाकर पड़े हुए धान की नमी चेक की।

जिन किसानों के धान में नमी मिली उन्हें धान सूखने तक इंतजार करने को कहा जिनके धान में नमी थी, उनके धान की तौल करवाई। विधायक ने क्रय केंद्रों का कागजो की जांच कर अब तक हुई तौल की जानकारी जुटाई। धीमी गति से हो रहा धान खरीद पर उन्होंने केंद्र प्रभारियों को फटकार लगाकर कार्यवाही की चेतावनी दी।

एसडीएम को बुलाकर उन्हें खरीद की निगरानी करने के लिए कहा। विधायक रोशन लाल वर्मा ने क्रय केन्द्र प्रभारी को काश्तकारों के धान की तौल करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि काश्तकारों को केन्द्रों पर किसी भी प्रकार की परेशानी न हो। जिसके लिए केन्द्रों पर वारदाना, पल्लेदारों की कमी नहीं होनी चाहिए। साथ ही उन्होंने मंडी में पड़ा किसानों का धान दो दिन में तौलने के निर्देश भी दिए।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.