Home उत्तराखंड शाही स्नान में साधू संत हुए नाराज़, समय पर घाट खाली न होने से बढ़ा गुस्सा

शाही स्नान में साधू संत हुए नाराज़, समय पर घाट खाली न होने से बढ़ा गुस्सा

0 second read
0
4

रिपोर्ट: नंदनी तोदी
हरिद्वार: उत्तराखंड के हरिद्वार में आज कुंभ में पवित्र सोमवती अमावस्या का शाही स्नान शुरू हो गया। स्नान रविवार देर रात से ही शुरू हो गया था। इसी को लेकर आज तकरीबन 13 अखाड़ों के संतुओ ने आस्था की डूबकी लगाई है।

इसी पर आईजी मेला संजय गुंज्याल का कहना है कि दिन  तक 21 लाख 07 हजार के लगभग श्रद्धालुओं ने सम्पूर्ण कुंभ मेला क्षेत्र में स्नान किया है। हरकी पैड़ी क्षेत्र में श्रद्धालु सुबह सात बजे तक ही स्नान कर पाए, इसके बाद संतों के लिए रिजर्व है। अन्य घाटों पर भक्तों का स्नान जारी है।

कुंभ के दूसरे शाही स्नान में देरी होने के कारण श्री पंचायती बड़ा उदासीन अखाड़ा के साधु संत नाराज होकर सड़क पर बैठ धरना करने लगे। मेला प्रशासन में साधु संतों के धरने पर बैठने से हड़कंप मच गया। मौके पर तमाम अधिकारी साधु संतों को मनाने पहुंच गए। श्री पंचायती बड़ा उदासीन अखाड़े के संतो ने स्नान करने से जब इंकार किया तो भारी मात्रा में पुलिस बल उन्हें मनाने की कोशिश करने लगे।

कुम्भ मेला प्रशासन की और से श्री पंचायती बड़ा उदासीन अखडे के धरने पर बैठे संतो को अपर मेलाधिकारी मनाने मौके पर पहुंचे। अपर मेला अधिकारी हरवीर सिंह ने संतो से निवेदन भी किया। धरना समाप्त कर स्नान के लिए आगे बढ़ने का भी निवेदन किया। जिसके बाद अपर मेलाधिकारी का निवेदन स्वीकार कर स्नान के लिए साधू संत आगे बढ़ गए।

Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.