1. हिन्दी समाचार
  2. बिज़नेस
  3. सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ बड़ौदा ने सभी अवधि के लिए मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट (MCLR) में 0.05 फीसद की कटौती की

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ बड़ौदा ने सभी अवधि के लिए मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ड लेंडिंग रेट (MCLR) में 0.05 फीसद की कटौती की

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

यह कटौती 12 नवंबर से प्रभावी होगी। बैंक ऑफ बड़ौदा ने शेयर बाजारों को जानकारी दी है, ‘बैंक ने MCLR में संशोधन किया है, जो 12 नवंबर से प्रभावी होगा।’ बैंक ने बताया है कि एक साल की अवधि के लिए MCLR 7.5 फीसद से घटकर 7.45 फीसद पर आ गई है। एक साल की अवधि का लोन ऑटो, रिटेल और हाउसिंग जैसे सभी कंज्यूमर लोन के लिए बेंचमार्क होता है।

बैंक ने कहा है कि एक दिन से लेकर छह माह तक की अवधि के लोन के लिए MCLR 6.60-7.30 फीसद के बीच रह गई है।

BSE पर दोपहर 2:13 बजे  Bank of Baroda के शेयर की कीमत 0.70 रुपये यानी 1.45 फीसद की गिरावट के साथ 47.50 रुपये पर ट्रेंड कर रहा था।

बैंक ऑफ बड़ौदा का मुख्यालय वडोदरा में है। साथ ही बैंक का कॉरपोरेट ऑफिस मुंबई में है।

इस बैंक की स्थापना 20 जुलाई 1908 को बड़ौदा के महाराजा सयाजीराव गायकवाड तृतीय ने की थी। बैंक ऑफ बड़ौदा का राष्ट्रीयकरण 19 जुलाई, 1969 को किया गया।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...