1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. NIA को मिली बड़ी कामयाबी खालिस्तानी आतंकी व तस्कर गिरफ्तार! हथियारों की सप्लाई, हत्या के संगीन आरोप

NIA को मिली बड़ी कामयाबी खालिस्तानी आतंकी व तस्कर गिरफ्तार! हथियारों की सप्लाई, हत्या के संगीन आरोप

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

लखनऊ: राष्ट्रीय जॉच एजेंसी NIA को यूपी के मेरठ जिले में बड़ी कामयाबी मिली है। यहां से NIA ने एक हथियार तस्कर और खालिस्तानी आतंकवादी को गिरफ्तार किया है। NIA ने इनको गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने एनआईए को 8 दिन की पुलिस रिमांड दे दी है। खालिस्तानी आतंकियों पर 9 MM पिस्टल सहित अन्य हथियारों की सप्लाई का आरोप है। इस मामले में आगे की जांच जारी है।

मिली जानकारी के अनुसार पंजाब के मोगा में जबरन रंगदारी वसूलने के मामले में स्थानीय आतंकी पर धमकी देकर वसूली का आरोप था। जिसके चलते NIA ने मेरठ से हथियार तस्कर गगनदीप सिंह को गिरफ्तार कर लिया। एनआईए की मानें तो गगनदीप सिंह एक अन्य फरार आरोपी अर्शदीप सिंह और हरदीप सिंह नामित आतंकवादी हैं। ये खालिस्तानी टाइगर फोर्स प्रमुख के भी करीबी हैं। गगनदीप को कोर्ट के सामने पेश किया गया है, जहां एनआईए कोर्ट ने आरोपी को 8 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया है।

आपको बता दें कि इससे पहले जुलाई में, 22 मई 2021 को पंजाब के मोगा में IPC, NDPS एक्ट, शस्त्र अधिनियम और गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था। मामला दर्ज होने के बाद लगातार जांच की जा रही थी। एनआईए ने पंजाब और उत्तर प्रदेश के मेरठ, मुजफ्फरनगर, पंजाब के बरनाला, मोगा, फिरोजपुर समेत कई स्थानों पर छापेमारी की थी।

एनआईए को इनि छापेमारी से काफी इनपुट मिले थे और छापे में खाली बुलेट कारतूस नशीला पदार्थ कॉम्पैक्ट ड्राइवर, डिजिटल उपकरण, फोन समेत कई दस्तावेज बरामद हुए थे। मिले इनपुट के आधार पर कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार शख्स मेरठ में थाना बहसूमा के फिरोजपुर, रामराज सैफपुर पुराने गुरुद्वारे के पास टावर वाली गली का रहने वाला है।

NIA की मानें तो, आरोपी गगनदीप सिंह, आरोपी प्रदीप सिंह सरकार आतंकवादी घोषित कर दी हैं। ये खेसारी टाइगर फोर्स (KTF) के प्रमुख व हरदीप सिंह के करीबी हैं। आरोपी हथियारों की तस्करी में शामिल है और अर्शदीप सिंह के कहने पर ही खालिस्तानी आतंकियों को 9mm पिस्टल सहित अन्य हथियारों की पूर्ति की गई थी। जिसे पंजाब में व्यापारियों की हत्या में इस्तेमाल की गई। इतना ही नहीं फरार अपराधी पंजाब और यूपी में गैंगस्टर से युक्त आतंकवादी गिरोह का संगठन खड़ा किया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads