Home देश बड़ी खबर : राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को जान का खतरा !, अलर्ट पर सुरक्षा एजेंसियां

बड़ी खबर : राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को जान का खतरा !, अलर्ट पर सुरक्षा एजेंसियां

8 second read
0
140

नई दिल्ली : पाकिस्तान को नाकों चने चाबने वाले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल को लेकर पाकिस्तान बड़ा षड्यंत्र रच रहा है, जिसे लेकर अब डोभाल की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। आपको बीते 6 फरवरी को सुरक्षा अधिकारियों ने कश्मीर में शोपियां के रहने वाले मलिक को गिरफ्तार किया था, जिस दौरान इसके पास से कुछ ऐसे सबूत मिले जिसे देखकर सुरक्षा दल भी हैरान हो गये।

आपको बता दें कि सुरक्षा एजेंसियों को मलिक के पास से डोभाल के ऑफिस का एक रेकी वीडियो पाया गया है, जिसके बाद ये बड़ा कदम उठा गया। बताया जा रहा है कि यह रेकी पिछले साल की गई थी. मलिक ने डोभाल के ऑफिस और श्रीनगर में अन्य इलाकों का वीडियो रिकॉर्ड किया था, जिसे मलिक ने अपने आकाओं को पाकिस्तान भेजे थे। इसकी जानकारी मिलते ही सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं।

बता दें कि इस मामले में मलिक पर एक एफआईआर भी दर्ज की गई है। जम्मू के गंग्याल पुलिस स्टेशन में मलिक के खिलाफ यूएपी की धारा 18 और 20 के तहत केस दर्ज किया गया है। मलिक को जैश के फ्रंट ग्रुप लश्कर-ए-मुस्तफा का प्रमुख बताया जा रहा है। उसे अनंतनाग से गिरफ्तार किया गया था। मलिक के पास पास हथियार और विस्फोटक बरामद किए गए थे।

खुफियां एजेंसियों के मुताबिक पाकिस्तान एक बार फिर जम्मू-कश्मीर में आतंक को फैलाने की साजिश रच रहा है। एजेंसियों ने गृह मंत्रालय को बताया है कि जम्मू-कश्मीर में जम्मात-ए-इस्लामी लश्कर, जैश, हिजबुल मुजाहिदीन को भारी फंड मुहैया कराने में जुटा हुआ है। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के जरिये, दुबई तुर्की के रास्ते फंडिंग मुहैया कराई जा रही है।

गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक जम्मू कश्मीर में अलगाववाद पार्ट-2 शुरू करने का साजिश की जा रही है। जकात, मौदा, बैत-उल-माल, विदेशों से आई चैरिटी, हेल्थ और एजुकेशन के नाम पर आईएसआई दुबई, तुर्की और दूसरे रास्तों से फंडिंग मुहैया करा रही है। आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल-370 हटने के बाद से लगातार आतंकवाद और पत्थरबाजी में कमी आई है। हालांकि अब जब एक बार फिर आतंक का पनाहगार देश भारत में आतंक को बढ़ावा देने के लिए नया षड्यंत्र रच रहा है, तो भारत की अगली रणनीति क्या होगी ये देखने लायक होगा।

Load More In देश
Comments are closed.