Home Madhya Pradesh लड़कियों को लेकर कांग्रेस नेता का विवादित बयान, कहा 15 साल की उम्र में ही लड़कियां दे सकती हैं बच्चे तो…

लड़कियों को लेकर कांग्रेस नेता का विवादित बयान, कहा 15 साल की उम्र में ही लड़कियां दे सकती हैं बच्चे तो…

30 second read
0
241
MP

नई दिल्ली : 15 साल की उम्र में ही लड़कियां प्रजनन के लायक हो जाती हैं और 18 साल में परिपक्व हो जाती हैं तो शादी की उम्र 21 साल क्यों हो?, ये कहना है मध्य प्रदेश में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सज्जन सिंह वर्मा का। जिसे लेकर वो विपक्षियों पार्टियों के निशानें पर आ गये है। एमपी बीजेपी की प्रवक्ता नेहा बग्गा ने कहा कि वर्मा ने देश की बेटियों का अपमान किया है। क्या वह भूल गये कि उनकी अध्यक्ष महिला हैं? क्या वह भूल गये कि उनकी नेता प्रियंका गांधी भी महिला हैं? मैं सोनिया गांधी से आग्रह करती हूं कि वह वर्मा के इस बयान के लिए उनसे सार्वजनिक तौर पर माफी मंगवाएं और यदि वह ऐसा नहीं करते हैं तो उन्हें पार्टी से बर्खास्त करें।

MP cong
सज्जन सिंह वर्मा का बयान
मध्य प्रदेश में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि, ”शादी की उम्र 18 साल है तो कौन सा बड़ा वैज्ञानिक या डॉक्टर हो गया शिवराज की शादी की उम्र 21 करेगा। डॉक्टरों की रिपोर्ट है यह कि बच्चियां 15 साल की उम्र में प्रजनन के उपयुक्त पाईं जाती हैं, तो 18 साल में परिपक्व हो गई बच्ची, यह माना जाता है वैज्ञानिकों से, उसे रहना चाहिए। 21 साल का लॉजिक आप (पत्रकार) बता दो शिवराज की तरफ से।”

मध्य प्रदेश सीएम शिवराज सिंह का बयान
गौरतलब है कि मंगलवार को एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि देश में लड़कियों की शादी की उम्र 21 साल होनी चाहिए। इसे मुद्दा बनाकर बहस करनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने सोमवार को महिला अपराध के उन्मूलन में समाज की भागीदारी के लिए जागरुकता अभियान के कार्यक्रम में कहा, जब लड़के के लिए शादी की उम्र 21 साल है, तो फिर लड़की के परिपक्वता की उम्र भी 21 साल होनी चाहिए।

आपको बता दें कि इसे लेकर शिवराज ने विभिन्न राजनीतिक पार्टियों से बहस करने को कहा था। इसे लेकर उन्होंने डॉक्टरों की राय भी रखीं थी। इसके बाद कांग्रेस नेता सज्जन सिंह ने अपना ये बेतुका बयान दिया। बता दें कि कांग्रेस की ओर से अभी तक इस मामले पर किसी तरह का कोई बयान सामने नहीं आया है।

वहीं राष्ट्रीय बाल संरक्षण अधिकार आयोग ने सज्जन सिंह वर्मा को उनके बयान को लेकर नोटिस दिया है। साथ ही 2 दिनों के अंदर इस पर जवाब तलब किया है। आपको बता दें कि नोटिस पर अभी तक वर्मा की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

Load More In Madhya Pradesh
Comments are closed.