Home उत्तराखंड डीएनए सैम्पलिंग के लिए कोर्ट में पेशी के आदेश के खिलाफ विधायक महेश नेगी ने हाईकोर्ट पहुंचे, उन्होंने खुद को बीमार बताया

डीएनए सैम्पलिंग के लिए कोर्ट में पेशी के आदेश के खिलाफ विधायक महेश नेगी ने हाईकोर्ट पहुंचे, उन्होंने खुद को बीमार बताया

0 second read
0
6

नैनीताल : जनवरी में डीएनए सैम्पलिंग प्रकरण पर विधायक मामले में सुनवाई होगी । विधायक ने वकील के माध्यम से बताया कि अस्वस्थ होने के कारण उपस्थित न हो सकेंगे। 11 जनवरी को पीड़िता की बेटी और विधायक दोनों को देहरादून सीजेएम कोर्ट बुलाया गया था ।सीजेएम कोर्ट देहरादून ने विधायक को डीएनए सैम्पलिंग के लिए उपस्थित होने के आदेश दिए थे। सितम्बर में कोर्ट के आदेश से महिला की शिकायत पर विधायक के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था। इस मामले में दोपहर बाद सुनवाई होगी।

विधायक महेश नेगी के अधिवक्ता रमेश भट्ट ने बताया कि कोर्ट से समय मांगा गया है। इससे पहले विधायक को सैंपल देने के लिए 24 दिसंबर को कोर्ट में आना था, लेकिन बीमारी का हवाला देकर वह कोर्ट में पेश नहीं हुए इसलिए कोर्ट की ओर से 11 जनवरी को तारीख निर्धारित की गई थी।

आपको बता दें कि एक महिला ने विधायक महेश नेगी पर बीते अगस्त में दुष्कर्म का आरोप लगाया था। साथ ही महिला ने दावा किया था कि विधायक उसकी पुत्री के जैविक पिता हैं। इसकी पुष्टि के लिए महिला अदालत से विधायक का डीएनए टेस्ट कराने की मांग कर रही थी। पूर्व में विधायक ने भी डीएनए टेस्ट के लिए तैयार होने का दावा किया था।

इस मामले में बीती छह सितंबर को कोर्ट के आदेश पर विधायक और उनकी पत्नी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। हालांकि, महिला दून पुलिस की जांच से असंतुष्ट थी और लगातार सीबीआइ से जांच करवाने की मांग करती रही। इसको देखते हुए पुलिस महानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र ने बीती 17 नवंबर को प्रकरण की जांच दून पुलिस से हटाकर पौड़ी पुलिस को सौंप दी थी।

Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.