1. हिन्दी समाचार
  2. योग और स्वास्थ्य
  3. जानिए डायबिटीज में पपीता खा सकते हैं या नहीं

जानिए डायबिटीज में पपीता खा सकते हैं या नहीं

विशेषज्ञों का कहना है कि पपीता अपने मध्यम ग्लाइसेमिक स्तर के कारण मधुमेह के लिए बहुत अच्छा है। पपीते में फ्लेवोनोइड्स होते हैं, जो ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।

By Prity Singh 
Updated Date

क्या डायबिटीज में पपीता खाना सुरक्षित है?

मधुमेह अपने साथ ढेर सारी पाबंदियां और जटिलताएं लेकर आता है। हाई शुगर, जिसे मधुमेह के रूप में भी जाना जाता है, एक ऐसी स्थिति है। जिसमें शरीर या तो कम इंसुलिन का उत्पादन करता है या इसका ठीक से उपयोग नहीं करता है।

हमारे शरीर को इंसुलिन की आवश्यकता होती है। एक हार्मोन जो भोजन से प्राप्त ग्लूकोज को शरीर की कोशिकाओं में प्रवेश करने में मदद करता है, जिसे आगे ऊर्जा में परिवर्तित किया जाता है। हालांकि, यदि आप मधुमेह से पीड़ित हैं, तो इंसुलिन संवेदनशीलता रक्त में ग्लूकोज के संचय का कारण बन सकती है।

खान-पान पर नज़र रखना क्यों ज़रूरी है?

 

जबकि हWhy you must start your day with papaya on an empty stomach | Lifestyle News,The Indian Expressमारा शरीर हमारे द्वारा खाए जाने वाले भोजन से ऊर्जा प्राप्त करता है। इंसुलिन हार्मोन के प्रभावी ढंग से काम करने के लिए यह आवश्यक है और यही कारण है कि मधुमेह वाले लोग शर्करा के स्तर को नियंत्रण में रखने के लिए दवाओं और उपचारों के लिए जाते हैं।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, ब्लड शुगर को प्रबंधित करने का सबसे आसान तरीका है, कि आप अपने आहार में बदलाव करें, व्यायाम करें और नियमित रूप से शुगर के स्तर पर नज़र रखें। जब मधुमेह आहार की बात आती है तो क्या खाना चाहिए और ‘क्या नहीं खाना चाहिए’ बहुत भ्रमित करने वाला हो सकता है। जबकि कुछ विशेषज्ञ दैनिक आहार में ताजे फल और सब्जियों को शामिल करने का सुझाव देते हैं, दूसरों का मानना ​​है कि सुक्रोज और फ्रुक्टोज में उच्च फलों को शामिल करने से बचना चाहिए। यदि आप मधुमेह से जूझ रहे हैं, तो क्या आप पपीता खा सकते हैं?

पपीते से है कड़वा-मीठा रिश्ता?

Health Tips : क्या डायबिटीज के मरीज के लिए पपीता खाना फायदेमंद है? जानिए | Papaya know the health benefits for diabetes | TV9 Bharatvarsh

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, मधुमेह रोगी भी कम मात्रा में इस मीठे और स्वस्थ फल का सेवन कर सकते हैं। पपीता विटामिन, खनिज, एंटीऑक्सिडेंट और सबसे महत्वपूर्ण फाइबर की अच्छाइयों से भरा हुआ है, जो एक प्राकृतिक रेचक के रूप में काम करता है और पाचन में सुधार करता है। यह कब्ज से राहत दिलाने में भी मदद करता है और चयापचय में सुधार करता है।

अमेरिकी कृषि विभाग (यूएसडीए) के अनुसार, एक कप ताजे कटे हुए पपीते में लगभग 11 ग्राम चीनी होती है। पपीते का ग्लाइसेमिक इंडेक्स 60 होता है जिससे ब्लड शुगर लेवल अचानक नहीं बढ़ता है।

जबकि कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि पपीता अपने मध्यम ग्लाइसेमिक स्तर के कारण मधुमेह के लिए बहुत अच्छा है, दूसरों को लगता है कि पपीते के मध्यम सेवन से शरीर पर हाइपोग्लाइसेमिक प्रभाव पड़ सकता है जो शर्करा के स्तर को कम करने में मदद करता है।

इसके अलावा, पपीते में फ्लेवोनोइड्स होते हैं, जो ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। अपने दैनिक आहार में एक या दो फलों को शामिल करने से आपके संपूर्ण स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है, लेकिन सुनिश्चित करें कि आप कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फलों का सेवन करें ताकि यह शर्करा के स्तर को न बढ़ाए।

यदि आप मधुमेह रोगी हैं तो अपने आहार में कुछ भी शामिल करने से पहले चिकित्सक की सलाह लें।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...