1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. प्रशासन की लापरवाही से सैकड़ों कुंटल गेहूं बारिस से भीगा, DM ने दिए जॉच के आदेश

प्रशासन की लापरवाही से सैकड़ों कुंटल गेहूं बारिस से भीगा, DM ने दिए जॉच के आदेश

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

शामली: देश में ताउ-ते तूफान से कई राज्यों में जन-जीवन ठप हो गया है, तेज बारिस और तूफान से जान-माल का नुकसान हुआ है। इसी बीच  यूपी के शामली जिले से प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आई है। यहां सैकड़ों कुंतल गेहूं क्रय केंद्र पर ही भीग गया। इतनी बड़ी लापरवाही के बाद भी गेहूं क्रय केंद्र पर मौजूद अधिकारी गेहूं को पानी से हटवाने की बजाय यह कहकर अपना पल्ला झाड़ते हुए नजर आए की गाड़ी न मिलने के कारण गेहूं क्रय केंद्र से उठकर नहीं जा पाया। वही इस लापरवाही पर जिलाधिकारी शामली जसजीत कौर ने एसडीएम ऊन और डिप्टी आरएमओ को मौके पर पहुंचकर जांच के निर्देश दिए हैं साथ लापरवाही मिलने पर संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की भी बात कही है।

एक तरफ योगी सरकार कोरोना जैसी आपदा में नि:शुल्क खाद्यान गरीबों को उपलब्ध कराने का मुहिम शुरु की है, तो वहीं दूसरी तरफ प्रशासन की इतनी बड़ी लापरवाही से सैकड़ो कुटल गेंहू खराब हो गया। मामला शामली जिले के ऊन तहसील क्षेत्र के कस्बा गढ़ीपुख्ता की है। पिछले 24 घंटे से  हो रही लगातार बारिश के कारण क्रय केंद्र पर रखा सैकड़ों कुंतल गेहूं बारिश में भीग कर खराब हो गया। हालात ये हो गये कि गेहूं के बोरे से बाहर पानी में भी गेहूं तैरता हुआ दिखाई दिया।

आपको बता दें कि ताऊ ते तूफान को देखते हुए पहले ही अलर्ट जारी कर दिया गया था, इसके साथ ही उत्तर प्रदेश में भी ताऊ ते तूफान को लेकर अलर्ट जारी किया गया था, लेकिन उसके बावजूद भी शामली प्रशासन नहीं जागा। शामली प्रशासन की बड़ी लापरवाही की वजह से गरीबों के लिए क्रय किया जाने वाला गेहूं बारिश में खुले आसमान के नीचे भीग कर खराब हो गया। ताऊ ते तूफान के अलर्ट के बाद भी शामली प्रशासन नहीं जागा और उसने सैकड़ों कुंतल गेहूं को सुरक्षित रखने के लिए कोई भी पुख्ता इंतजामात नहीं किए जिसका परिणाम यह हुआ कि सैकड़ों कुंतल गेहूं बारिश में भीग कर खराब हो गया।

वहीं गेहूं क्रय केंद्र पर मौजूद अधिकारी से जब गेहूं भीगने के बारे में पूछा गया तो वह कुछ अलग ही राग अलापता हुआ दिखाई दिया। गेहूं क्रय केंद्र पर मौजूद अधिकारी ने बताया कि गेहूं क्रय केंद्र से हूं इसलिए नहीं उठ पाया कि उन्हें यहां से गेहूं को ले जाने के लिए गाड़ी नहीं मिल पाई। वहीं इस पूरे मामले पर जिलाधिकारी शामली ने जांच की बात कहते हुए दोषी कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की बात कही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads