1. हिन्दी समाचार
  2. योग और स्वास्थ्य
  3. गले के दर्द को भूलकर भी हल्के में नहीं ले ! पढ़िए इसके बारे में

गले के दर्द को भूलकर भी हल्के में नहीं ले ! पढ़िए इसके बारे में

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

आज के समय में सर्दी जुकाम और गले में खराश आम बात है। लेकिन कई बार लोग इन्हे हल्के में ले लेते है और इसका ठीक तरीक़े से उपचार नहीं करते है। इसके अलावा  लोग इस बात से भी अनजान होते है कि गले में दर्द या जुकाम वायरस के कारण होता है इसलिए इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए।

ठंडी चीजों के इस्तेमाल से परहेज करें, ताकि गले में किसी तरह के इंफेक्शन का खतरा नहीं रहे। गले में इंफेक्शन के कई लक्षण हैं, जैसे गले में दर्द, गर्दन में सूजन और कई बार कान के नीचे तक दर्द होना शामिल है।

जब किसी व्यक्ति को निगलने में, पानी पीने के समय, इत्यादि कामों को करते समय गले में दर्द होता है, तो उसे गले में खराश कहा जाता है। जब किसी व्यक्ति को गले में खराश किसी वायरल के कारण होती है, तो उसे वायरल थ्रोट कहा जाता है।

गले में खराश होने पर गुनगुना पानी पिएं। गुनगुने पानी में सिरका डालकर गरारे करने से गले की खराश दूर होगी और गले का संक्रमण भी ठीक हो जाएगा। इसके अलावा गुनगुने पानी में नमक डालकर गरारे करना एक अच्छा इलाज है।

नमक बलगम को सूजे हुए ऊत्तकों से बाहर निकालता है और इसके लिए आधा चम्मच नमक के साथ 4-8 औंस गर्म पानी होना चाहिए।

इसके अलावा हल्दी का दूध गले के संक्रमण से निजात दिलाने के लिए एक अद्भुत घरेलू उपाय है। यह गले में खराश, सर्दी और यहां तक कि खांसी का इलाज करने के लिए भी असरदार है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...