Home Madhya Pradesh मध्य प्रदेश के रीवा में CM शिवराज के आदेशों की अवहेलना, पुलिस वाले ही तोड़ते दिखें कानून, पैदल जाना पड़ा दूल्हा-दुल्हन को घर

मध्य प्रदेश के रीवा में CM शिवराज के आदेशों की अवहेलना, पुलिस वाले ही तोड़ते दिखें कानून, पैदल जाना पड़ा दूल्हा-दुल्हन को घर

1 second read
0
84

नई दिल्ली : कुछ दिनों पहले ही मध्य प्रदेश से एक ऐसा वीडियो सामने आया था, जिसमें डीएम साहब अपने खाकी वर्दी के नशे में चुर होकर एक शादी समारोह में पहुंचे लोगों के साथ अभद्रता करते है, अफना धौंस दिखाते है। हालांकि इस मामले में डीएम साहब को सस्पेंड कर दिया गया है। वहीं इससे अलग एक और मामला मध्य प्रदेश के रीवा से सामने आई है। जहां की पुलिस वाले ही सीएम शिवराज के आदेशों का अवहेलना कर रहे है। वो भी सिर्फ आम जनता पर, भाजपा का झंडा लगे अन्य वाहनों पर नहीं।

खबरों के मुताबिक मध्य प्रदेश के रीवा में पुलिस ने शादी कर वापस लौट रहे दूल्हा-दुल्हन की कार की हवा निकाली दी। लेकिन वहीं वहां से गुजर रही सत्ता दल की गाड़ी पर कोई कार्रवाई नहीं की। क्योंकि उस पर बीजेपी का झंडा लगा हुआ था। जानकारी के मुताबिक लॉकडाउन में यह दूल्हा अपनी दुल्हन को लेकर घर जा रहा था।

आपको बता दें कि यह मामला रीवा के चोरहटा थाना क्षेत्र अंतर्गत करहिया मंडी के पास का है। जहां पुलिस ने शादी करके वापस लौट रहे दूल्हा-दुल्हन की कार की हवा निकाल दी। लेकिन इसी कार्रवाई के दौरान वहां से भाजपा का झंडा लगाए हुए निकलती स्कार्पियो पर कोई कार्रवाई नहीं की। जबकि पुलिस ने कई वाहनों की हवा निकाली थी। जिसके बाद ऐसे लोगों को घर पहुंचने में कड़ी मशक्कत का सामना करना पड़ा।

पुलिस की इस शर्मनाक हरकत को सीएम शिवराज के शादी को लेकर दिए जाने वाले आदेशों की अवहेलना मानी जा सकती है। हालांकि मामले को लेकर जब मीडिया के द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विजय डाबर से बात की गई तो उन्होंने कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए आयोजित हो रहे वैवाहिक कार्यक्रमों में नियम के तहत कार्रवाई कराने की बात कही है।

बता दें कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते जहां मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा समूचे प्रदेश में लॉकडाउन की घोषणा की गई है, ऐसे में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वैवाहिक कार्यक्रमों को लेकर नई गाइडलाइन तैयार की थी। जिसमें अपने घर में रहते हुए परिवार के सदस्य मिलकर शादी समारोह करा सकते हैं। लेकिन रीवा में मुख्यमंत्री के आदेशों की अवहेलना होती दिखाई दे रही है और पुलिस कर्मचारी ही उनके आदेशों को मानने को तैयार नहीं हैं।

रिकवरी रेट में लगातार हो रही बढ़ोतरी

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव केसों की तुलना में रिकवरी रेट में लगातार वृद्धि हो रही है। रिकवरी दर 23 अप्रैल को 80.41 प्रतिशत थी, जो बढ़कर आज 84.19 प्रतिशत हो गई है। चौहान ने बताया कि प्रदेश में रिकवरी दर 29 अप्रैल को 82.28 प्रतिशत, 30 अप्रैल को 82.88 प्रतिशत और एक मई को बढ़कर 83.63 प्रतिशत पहुँची। एक्टिव केसों की संख्या के हिसाब से मध्यप्रदेश देश में 7 वें नंबर पर था, जो अब 14 वें नंबर पर बेहतर स्थिति में आ गया है। प्रदेश के 26 जिलों में नए पॉजिटिव केसों की तुलना रिकवरी का प्रतिशत अधिक रहा है।

प्रदेश के 52 जिलों मे 251 कोविड केयर सेंटर्स प्रारंभ

उन्होंने बताया कि प्रदेश के 52 जिलों मे 251 कोविड केयर सेंटर्स प्रारंभ किये जा चुके हैं, जिनमें मंद लक्षणों वाले रोगियों को रखा जा रहा है। इनमें वर्तमान में कुल 16 हजार 636 बेड्स की व्यवस्था की गई है। इनमें से 1180 ऑक्सीजन बेड्स स्थापित किये गए हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में अब तक कुल 22 हजार 10 संस्थागत क्वारेन्टाईन सेंटर्स बनाये जा चुके हैं। इनमें 2 लाख 63 हजार 715 बेडस स्थापित किये गए हैं।

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में 1 मई को कोरोना के 12,379 नये मामले आये थे। जिससे राज्य में कुल कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 5 लाख 76 हजार, वहीं इस महामारी से ठीक हुए लोगों की संख्या 481 हजार है। जबकि इस महामारी से मरने वाले लोगों की संख्या 5,718 है।

Load More In Madhya Pradesh
Comments are closed.