Home ताजा खबर कांग्रेस ने बीजेपी को बताया महिला विरोधी सरकार : पढ़िए बीजेपी पर लगे आरोप

कांग्रेस ने बीजेपी को बताया महिला विरोधी सरकार : पढ़िए बीजेपी पर लगे आरोप

27 second read
0
4

हाथरस की निर्भया जिस तरह से हैवानों की दरिंदगी का शिकार हुई है, उसे लेकर पूरे देश के लोगों में गुस्सा बढ़ता जा रहा है, जो योगी सरकार के लिए परेशानी बन सकती है।

हाथरस की निर्भया 15 दिनों तक जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ती रही और आखिरकार मंगलवार को दिल्ली सफ़दरगंज के अस्पताल में दम तोड़ दिया और पुलिस ने रातोरात अंतिम संस्कार भी कर दिया।

जिसमें पीड़िता के घरवालों का आरोप है कि उनकी अनुपस्थिति में ही शव का अंतिम संस्कार किया गया। जिससे यूपी पुलिस और योगी सरकार को इस मामले को लेकर लगातार घेरा जा रहा है और योगी सरकार से राहुल-प्रियंका गाँधी ने इस्तीफा तक की मांग की है।

इसको लेकर कांग्रेस पार्टी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक पोस्ट जारी किया जिसमें उन्होंने लिखा, ‘महिला विरोधी भाजपा सरकार महिला सुरक्षा के मामले में विफल साबित हुई है। भाजपा देश की बेटियों की सुरक्षा करने में नाकाम हुई है। देश का हर व्यक्ति कह रहा है- ‘ हमारी बेटियों को सुरक्षा दो; नहीं तो, सत्ता छोड़ दो’

प्रियंका गाँधी वाड्रा ने अपने ट्वीट पर योगी सर्कार पर हमला करते हुए कहा था कि “मैं यूपी के मुख्यमंत्री जी से कुछ सवाल पूछना चाहती हूँ- परिजनों से जबरदस्ती छीन कर पीड़िता के शव को जलवा देने का आदेश किसने दिया ? पिछले 14 दिन से कहां सोए हुए थे आप? क्यों हरकत में नहीं आए? और कब तक चलेगा ये सब? कैसे मुख्यमंत्री हैं आप ?

उन्होंने आगे कहा “हाथरस जैसी वीभत्स घटना बलरामपुर में घटी। लड़की का बलात्कार कर पैर और कमर तोड़ दी गई। आजमगढ़, बागपत, बुलंदशहर में बच्चियों से दरिंदगी हुई। यूपी में फैले जंगलराज की हद नहीं। मार्केटिंग, भाषणों से कानून व्यवस्था नहीं चलती। ये मुख्यमंत्री की जवाबदेही का वक्त है। जनता को जवाब चाहिए।”

राहुल गाँधी में अपने एक ट्वीट में कहा था कि UP के ‘वर्ग-विशेष’ जंगलराज ने एक और युवती को मार डाला। सरकार ने कहा कि ये फ़ेक न्यूज़ है और पीड़िता को मरने के लिए छोड़ दिया। ना तो ये दुर्भाग्यपूर्ण घटना फ़ेक थी, ना ही पीड़िता की मौत और ना ही सरकार की बेरहमी।”

उन्होंने आगे कहा “दुख की घड़ी में अपनों को अकेला नहीं छोड़ा जाता। UP में जंगलराज का ये आलम है कि शोक में डूबे एक परिवार से मिलना भी सरकार को डरा देता है।इतना मत डरो, मुख्यमंत्री महोदय!”

बता दें कि 14 सितंबर की सुबह हाथरस के चंदपा थाना क्षेत्र में बूलगढ़ी गांव में इस निर्भया कांड को चार लोगों ने अंजाम दिया था। युवती खेत में चारा काट रही थी तभी गांव के ही चार युवक वहां पहुंचे और लड़की को खींचकर बाजरे के खेत में ले गए, जहां उन चारों ने इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना को अंजाम दिया।

Load More In ताजा खबर
Comments are closed.