1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. बिहार चुनाव नजीते आने में लग सकता है वक्त, जानिए क्यों

बिहार चुनाव नजीते आने में लग सकता है वक्त, जानिए क्यों

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

बिहार चुनावों की गिनती आज सुबह 8 बजे से शुरू हो चूका है। माना जा रहा है कि गिनती शुरू होने के बाद जहां रुझान साढे नौ बजे से आने लगेंगे लेकिन नतीजे आने में थोड़ा वक्त लग सकता है।

जिसका कारण हर विधान सभा क्षेत्र में औचक रूप से 5 बूथों पर डाले गए वोटों और वीवीपीएटी पर्चियों का मिलान किया जाना है। बता दें कि पहले रेंडम्ली एक विधान सभा के एक बूथ में मिलान होता था लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इसे पांच कर दिया।

इसके साथ ही कोरोनाकाल में बिहार चुनाव भारत में हो रहे ये पहले चुनाव हैं। माना जा रहा है कि इसका असर इन चुनावों पर पड़ने वाला है। इन चुनावों मे एहतियात बरतते हुए निर्वाचन आयोग ने मतगणना बूथों की संख्या डेढ़ गुना से भी ज़्यादा बढ़ा दी है। इन सबका मिलान करने में भी थोड़ा अतिरिक्त समय लग सकता है।

इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए चुनाव आयोग ने मतगणना केन्द्रों की संख्या बढ़ा दी थी। उसी को देखते हुए मतगणना के लिए भी अधिकारियों और कर्मचारियों की संख्या भी बढ़ाई गई है।

कोरोना संकट के कारण बूथों की संख्या में लगभग 40 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इस बार 72 हजार बूथ की जगह 1 लाख 6 हजार 526 बनाने पड़े थे। मतगणना के लिए एक हॉल पर अधिकतम 14 टेबल होंगे। जहां हॉल छोटा होगा वहां 7 टेबल लगाए जाएंगे।

मतगणना केंद्र पर तैनात सभी मतगणना कर्मी, अधिकारी, सुरक्षा में तैनात जवान और पार्टी एजेंटों को मास्क और हैंड सेनेटाइजर का इस्तेमाल करना होगा। मतगणना केंद्र पर मतगणना से पहले फॉगिंग मशीन से टेमीफॉस का छिड़काव अनिवार्य है। तीन पालियों में मतगणना कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई है।

आप को बता दे की अभी महागठबंधन 104 सीटों पर तो एनडीए गठबंधन 59 सीटों पर आगे चल रही है। चिराग पासवान की पार्टी एक सीट पर आगे चल रही है। ओवौसी की पार्टी भी एक सीट पर आगे चल रही है।

इस चुनाव में जहां नीतीश कुमार की साख दांव पर लगी है। वहीं तेजस्वी के सामने अपने पिता लालू प्रसाद यादव के छवि से हटकर अपना राजनीतिक करियर बनाने की चुनौती है।

मतगणना केन्द्रों की तादाद बढ़ाकर 55 कर दी गई है। मतगणना कर्मचारियों की भी तादाद उसी अनुपात में बढ़ाई गई है। चार जिलों पूर्वी चम्पारण, गया, सीवान और बेगूसराय जिलों में 3-3 केन्द्रों पर मतगणना होगी जबकि पूर्णिया, मधुबनी, सहरसा, गोपालगंज, दरभंगा, भागलपुर, बांका, नवादा और नालन्दा में 2-2 मतगणना केन्द्र बनाए गए हैं। बाकी बचे 23 जिलों में 1-1 मतगणना केन्द्र हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...