1. हिन्दी समाचार
  2. ताजा खबर
  3. कमरतोड़ महंगाई और बेरोजगारी को लेकर केन्द्र व दिल्ली सरकार के खिलाफ कांग्रेस पार्टी ने संसद का घेराव रैली का अयोजन किया ।

कमरतोड़ महंगाई और बेरोजगारी को लेकर केन्द्र व दिल्ली सरकार के खिलाफ कांग्रेस पार्टी ने संसद का घेराव रैली का अयोजन किया ।

A gherao rally of Congress Party Parliament was organized against the Center and Delhi government due to backbreaking inflation and unemployment; कांग्रेस ने केन्द्र सरकार की तानाशाही और आम आदमी पार्टी की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ निकली रैली।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

खुर्शीद रब्बानी

नई दिल्ली: दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के नेतृत्व में आज हजारों की सख्यां में आक्रोषित कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बढ़ती मंहगाई, बेरोजगारी, केन्द्र सरकार की हठधर्मिता, तानाशाही और आम आदमी पार्टी की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराते हुए संसद का घेराव करने जंतर मंतर पहुंचे, जहां मौजूद अतिरिक्त सुरक्षा बलों ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को बीच में ही रोक दिया गया। जंतर मंतर पर मौजूद जनसैलाब से यह जाहिर हो रहा था कि दिल्ली का हर परिवार बढ़ती मंहगाई और बेरोजगारी से प्रभावित है।

anil chaudhary

प्रदर्शनकारियेां को सम्बोधित करते हुए चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि मौजूद केन्द्र में भाजपा की मोदी की तानाशाही के चलते आज देश के गरीब, मजदूर, निम्न व मध्यम वर्ग की हालत दिन प्रतिदिन बिगड़ती जा रही है। महंगाई में बेतहाशा वृद्धि से परेशान देशवासियों के अधिकारों की लड़ाई लड़ने वाले विपक्ष की बात को केन्द्र सरकार सड़क या संसद कहीं सुनने को तैयार नही है। उन्होंने कहा कि कोविड के बाद केन्द्र सरकार की गलत नीतियों के कारण उपजे आर्थिक संकट के चलते कमरतोड़ महंगाई और बढ़ती बेरोजगारी से लोगों के लिए अजीविका का संकट खड़ा हो गया है और मोदी सरकार विपक्ष की हर बात को अनसुना कर रही है।

 

 

उन्होंने कहा कि आज आप पार्टी की सरकार के मुख्या व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द दिल्ली के चौराहों पर शराब की दुकान खोल रहे है और ये शराब की दुकाने ऐसे चौराहों पर खोली जा रही जहां अपनी माता-बहने अपने-अपने बच्चों को लेने के लिए स्कूल से आने वाली बसों का इन्तेजार कह रही होती है और उन चौराहों पर हमारी माता-बहनों पर नेशेड़ियों द्वारा अभद्र भाषाओं का प्रयोग किया जाता है। उन्होंने कहा की दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द की इस शरब की नई नीति ने भारत की राजधानी दिल्ली को नेशे की राजधानी बना दिया है और यही कारण है कि  दिल्ली की महिलाएं आप पार्टी की सरकार के राज में अपने आप को और अधिक असुरक्षित महसूस कर रही है।

adhir

लोकसभा में कांग्रेस के नेता सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी मुख्य विपक्ष की भूमिका निभाते हुए संसद और सड़क पर जनता के दुख, उनके अधिकारों की लड़ाई और बढ़ती महंगाई के खिलाफ जब आवाज उठाती है तो भाजपा की मनुवादी सोच वाली केन्द्र सरकार हर मोर्चे पर उस आवाज को दबाने का षड़यंत्र अपनाती है। उन्होंने कहा कि आज सरकार जनता के हितों व अधिकारों से जुड़े किसी मुद्दे पर उच्चत्तम पटल संसद तक में चर्चा करने को तैयार नही और यदि कुछ सांसद अधिकारों के लिए अपनी बात कहते हैं तो उन्हें संसद से बर्खास्त कर दिया जाता है। मोदी सरकार की विपक्ष को दबाने की नीति के कारण जनप्रतिनिधि सांसदों को अधिकारों के लिए मजबूरन धरने पर बैठना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार द्वारा राज्यसभा से 12 सांसदों को अलोकतांत्रिक तरीके से निलंबित करने के बाद माफी मांगने के लिए उन पर दबाव बनाया जा रहा है, उन्होंने कहा कि सांसद किसी भी सूरत में माफी नहीं मांगेंगे क्योंकि जब राज्यसभा के कांग्रेस सांसदों ने कुछ लगत किया ही नही तो माफी किस बात की।

 

अ0भा0क0कमेटी के दिल्ली प्रभारी श्री शक्तिसिन्ह गोहिल ने कहा कि केन्द्र की जनविरोधी नीतियों के कारण बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी और बिगड़ते आर्थिक संतुलन के खिलाफ कांग्रेस पार्टी ने जब जनता की आवाज को जनता की अदालत में महंगाई हटाओ रैली के द्वारा ले जाने की बात करी तो दिल्ली में आयोजित रैली को दिल्ली की अरविन्द केजरीवाल ने उपराज्यपाल का प्रयोग करके भाजपा के साथ मिलकर रैली को रद्द करवा दिया गया। उन्होंने कहा कि केन्द्र और दिल्ली सरकार मंहगाई और जनता के हितों से जुडे़ किसी भी मुद्दो पर कुछ सुनना ही नही चाहती। जवान हो, किसान हो, युवा हो, मजदूर हो, गरीब हो, शिक्षक हो, महिला हो आज हर वर्ग, हर व्यक्ति केन्द्र की मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों से परेशान है।

shakti singh

श्री शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि आज जंतर मंतर पर मौजूद असंख्य कांग्रेस कार्यकर्ताओं और दिल्लीवासियों ने यह साबित कर दिया है कि वे आने वाले समय में दिल्ली में आम आदमी पार्टी और भाजपा की सरकारों को बर्दाश्त नही करेंगे। उन्होंने कहा कि केजरीवाल ने अपने पूरे शासन काल में दिल्लीवालों से झूठे वायदे करके केवल उन्हें ठगा है। उन्होंने कहा कि दिल्लीवासी उनकी भ्रमित करने की सोच को पहचान चुके है क्योंकि अभी तक केजरीवाल ने दिल्ली के लिए झूठी घोषणाओं के अलावा कुछ नही किया है। उन्होंने कहा कि यही स्थिति दिल्ली नगर निगम में शासित भाजपा के 15 वर्षो के शासन की रही है। नगर निगम की मूल जिम्मेदारी सफाई व्यवस्था में दिल्ली देश सबसे पिछड़ी हुई है जबकि शिक्षा, स्वास्थ्य, कॉलोनियों की सड़के व नालियां हो हर क्षेत्र में दिल्ली पिछड़ गई है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार की ठगी और महंगाई से आज दिल्ली का हर परिवार दुखी है। महिला सुरक्षा की बात करने वाले केजरीवाल के शासन में अपराधिक घटनाऐं दुगनी हो चुकी है जिसमें महिलाओं के साथ उत्पीड़न और बलात्कार की घटनाओं में शतप्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है।

 

संसद घेराव प्रदर्शनकारियों में प्रदेश अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के अलावा अ0भा0क0कमेटी के दिल्ली प्रभारी श्री शक्तिसिन्ह गोहिल, लोकसभा में कांग्रेस के नेता सांसद अधीर रंजन चौधरी, पूर्व केन्द्रीय मंत्री कृष्णा तीरथ, पूर्व सांसद उदित राज, रमेश कुमार, चौ0 तारीफ सिंह, राष्ट्रीय महिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष नेट्टा डिसूजा, दिल्ली के पूर्व मंत्री डा0 नरेन्द्र नाथ, किरण वालिया, अ0भा0क0कमेटी सचिव प्रणव झा, सी.पी. मित्तल, तरूण कुमार, प्रदेश उपाध्यक्ष जय किशन, अली महेंदी, मुदित अग्रवाल, शिवानी चौपड़ा, पूर्व विधायक राजेश लिलौठिया, चौ0 मतीन अहमद, विजय लोचव, कुंवर करण सिंह, भीष्म शर्मा, चरण सिंह कंडेरा, राजेश जैन, अमरीश गौतम, दर्शना रामकुमार, अल्का लाम्बा, डा. नरेश कुमार, राजेश गर्ग, दिल्ली कांग्रेस मीडिया संचार विभाग के उपाध्यक्ष परवेज आलम व अनुज अत्रेय, दिल्ली महिला कांग्रेस की अध्यक्ष अमृता धवन, विधिक एवं मानव अधिकार विभाग के चैयरमेन एडवोकेट सुनील कुमार, दिल्ली सेवादल संगठन चीफ सुनील कुमार आदि मौजूद थे इसके अलावा केन्द्र की भाजपा सरकार द्वारा अलोकतांत्रिक तरीके से राज्यसभा से निलंबित सभी कांग्रेस सांसद भी मंच पर मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...