Home अमेठी अमेठी – पेट्रोल डालकर प्रधान पति को जिंदा जलाया

अमेठी – पेट्रोल डालकर प्रधान पति को जिंदा जलाया

10 second read
0
3

उत्तर प्रदेश के अमेठी जनपद एवं तहसील क्षेत्र अंतर्गत मुंशीगंज थाने के बंदोईया गांव में ग्राम प्रधान के पति व प्रतिनिधि अर्जुन कोरी को गांव के ही 5 लोगों ने पहले जमकर मारा पीटा। उसके बाद पेट्रोल डालकर आग लगा दी।

घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पुलिस तथा एंबुलेंस पहुंची। जहां से आनन-फानन में घायल अवस्था में अर्जुन को जिला अस्पताल ले जाया गया। वहां पर गंभीर रूप से झुलसे अर्जुन को ट्रामा सेंटर लखनऊ के लिए रेफर कर दिया गया। ट्रामा सेंटर ले जाते समय रास्ते में अर्जुन ने दम तोड़।

आपको बता दें कि पूरा मामला 29 तारीख की शाम 6:00 बजे का है। जब मुंशीगंज थाना क्षेत्र के बंदोईया गांव के ग्राम प्रधान छोटका के पति और प्रतिनिधि अर्जुन कोरी घर से चौराहे पर सब्जी लेने निकले थे। जिसके बाद वह वापस नहीं आए।

शाम होते ही काफी देर हो जाने के बाद जब घर वालों को अर्जुन की चिंता होने लगी, तो घर वालों ने खोजबीन शुरू की। जब अर्जुन नहीं मिले तब घर वालों ने मुंशीगंज थाना पहुंचकर पुलिस वालों को सूचित किया।
इसी बीच ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी कि कृष्ण कुमार तिवारी के घर के बाहर अहाते से किसी के कराने की आवाज आ रही है। मौके पर पहुंची डायल 100 की पुलिस ने अंदर जाकर देखा तो अर्जुन कोरी घायल अवस्था में पड़ा हुआ था।

तत्काल पुलिस ने 102 एंबुलेंस बुलाकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नौगिरवा भेजा। जहां से उसको जिला अस्पताल सुल्तानपुर रेफर कर दिया गया। वहां पर भी गंभीर रूप से झुलसे अर्जुन कोरी को ट्रामा सेंटर लखनऊ के लिए रेफर किया गया। परिजनों ने घायल अवस्था में अर्जुन को लेकर ट्रामा सेंटर लखनऊ जा रहे थे। तभी रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।

 

हालांकि मौत के पहले उनके पुत्र ने अर्जुन कोरी के बयान को मोबाइल पर रिकॉर्ड कर लिया। जिसमें उन्होंने गांव के ही 5 लोगों जिसमें कृष्ण कुमार तिवारी, आशुतोष, रघुवीर, संतोष एवं राजेश मिश्र द्वारा पेट्रोल डालकर जलाए जाने की बात कही है।

लाश को लेकर जैसे ही गांव पहुंचे। गांव में हड़कंप मच गया। मौके पर मुंशीगंज थाने की फोटो सहित पुलिस क्षेत्राधिकारी संतोष कुमार सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक दयाराम सरोज के साथ सर्विलांस टीम फॉरेंसिक टीम ने पहुंचकर जायजा लेना शुरू किया और साक्ष्य संकलन किया।

इसी बीच मृतक की पत्नी एवं ग्राम प्रधान की ओर से पुलिस को 5 लोगों के विरुद्ध नामजद तहरीर दिया तथा कार्यवाही करने की मांग की। वहीं पर मृतक की पत्नी का कहना है कि इन लोगों के द्वारा पैसे की मांग की जा रही थी। लोगों का कहना था कि प्रधानी में बहुत पैसा आता है और हमको भी चाहिए।

वहीं पर मृतक के पुत्र ने चुनावी रंजिश की बात कही है। इसी के साथ यह भी आरोप लगाया है कि यह लोग गांव के विकास से चल रहे थे और इन लोगों को लग रहा था कि प्रधान के आगे हम लोगों कि नहीं चल रही है।
इसलिए मेरे पिता को जलाकर मार दिया। ऐसे में मुझे सुरक्षा दी जाए तथा पिता को न्याय मिलना चाहिए। जबकि छोटे बेटे गोविंद ने बताया कि इन लोगों के द्वारा पिताजी को पहले मारा पीटा गया। फिर बिजली का करंट लगाया गया उसके बाद जलाकर मार दिया गया।

वही मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने बताया कि ग्राम बंदोईया से कल रात लगभग 11:55 बजे सूचना प्राप्त हुई थी कि बंदोईया ग्राम के कृष्ण कुमार के अहाते में ग्राम प्रधान छोटका के पति अर्जुन अधजले एवं घायल अवस्था में पढ़े हुए हैं।

जहां पर अभिलंब पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घायल को उपचार के लिए भिजवाया। जहां से उनको सुल्तानपुर रेफर कर दिया गया। जब सुल्तानपुर से आज सुबह लखनऊ के लिए रेफर हुए तो रास्ते में उनकी मृत्यु हो गई।
उनके परिजनों ने हमें कृष्ण कुमार आदि 5 नफर अभियुक्तों के खिलाफ 302 के अंतर्गत तहरीर दी है। जिस पर अभियोग पंजीकृत कर लिया गया है। अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए टीम रवाना कर दी गई है। यथाशीघ्र अभियुक्तों की गिरफ्तारी की जाएगी। साक्ष्य संकलन करते हुए अग्रिम कार्यवाही शीघ्र ही पूरी कर ली जाएगी।

मृतक के घर मौके पर पहुंचे अमेठी जनपद के जिला अधिकारी अरुण कुमार ने बताया कि जैसा कि आपने देखा है यहां पर पूरा प्रशासन मौजूद है। तहसील प्रशासन पहले से ही आ चुका है।
वर्तमान में कप्तान साहब के द्वारा भी कार्यवाही पूर्ण की जा चुकी है। जो इसमें अभियुक्त हैं उनकी गिरफ्तारी लगातार चल रही है। 3 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। इसके अतिरिक्त परिजनों की जो मांग है कि इनको सरकारी सहायता उपलब्ध कराई जाए उसके संबंध में भी कार्यवाही प्रारंभ की जा चुकी है।

तहसील प्रशासन यहां पर मौजूद है और के द्वारा सभी अगले के लिए जा रहे हैं। इसमें पारिवारिक लाभ योजना के अंतर्गत तथा किसान दुर्घटना बीमा की योजना के अंतर्गत लाभ अनुमन्य है। जिसमें कागज तैयार कर इनको लाभ प्रदान किया जाएगा। यह पांच लाख की धनराशि है। इसके अलावा जो भी अन्य योजना है। उसका परीक्षण भी हम लोग कर रहे हैं। सभी अधिकारी यहां पर मौजूद हैं जो भी सहायता अनुमन्य होगी, वह सब पूरी की जाएगी।

Load More In अमेठी
Comments are closed.