Home विदेश तख्तापलट के बाद खूंखार हुई म्यांमार की सेना ने मंदिरों में लगाया लाशों का ढेर, एक दिन में 82 लोगों का कत्ल

तख्तापलट के बाद खूंखार हुई म्यांमार की सेना ने मंदिरों में लगाया लाशों का ढेर, एक दिन में 82 लोगों का कत्ल

0 second read
0
382

यांगून : तख्तापलट के बाद म्यांमार में खूंखार हुई सेना ने देश की राजधानी बागो में कत्लेआम मचा कर रख दिया है, जिसे लेकर चारों तरफ हाहाकार मचा हुआ है। एक तरफ जहां म्यांमार की तमाम जनता विश्व की ओर आशा की दृष्टि से देख रहा है, तो वहीं दूसरी तरफ म्यांमार की सेना लगातार म्यांमार को खून से लाल करने में लगी हैष क्योंकि देश में लोकतांत्रित सरकार की तख्तापलट के बाद से लगातार सैनिकों द्वारा निर्दोष जनता के खून से होली खेली जा रही है।

आपको बता दें कि एक बार म्यांमार की सेना ने एक दिन में सुरक्षाबलों ने प्रदर्शन करने वाले कम से कम 82 लोकतंत्र समर्थकों को मार डाला, और फिर इनकी लाशों से बौद्ध मंदिर के एक मैदान में एक ऊंचा ढेर लगा दिया। जिससे यह मंदिर एक शवगाह बनकर रह गया। मारे गए प्रदर्शनकारियों की संख्या पर नजर रखने वाले असिस्टेंस असोसिएशन फॉर पॉलिटिकल प्रिजनर्स संगठन और स्थानीय मीडिया ने खबरों में यह दावा किया कि अब तक 82 लोगों की मौत की पुष्टि हो गई है। लेकिन ये आंकड़ा अभी और भी बढ़ सकता है क्योंकि अन्य मामलों का मृतक घोषित किया जाना बाकी है।

बता दें कि इससे पहले भी 14 मार्च को राजधानी से मात्र 100 किलोमीटर दूर यांगून शहर में सुरक्षाबलों ने 100 से ज्यादा लोगों को मार गिराया था। रिपोर्ट के मुताबिक, यह संगठन मरने वालों और गिरफ्तार लोगों की दैनिक संख्या जारी करता है। इसके आंकड़े काफी व्यापक रूप से विश्वसनीय माने जाते हैं क्योंकि मौत के नए मामलों को तब तक शामिल नहीं किया जाता जब तक उनकी पुष्टि नहीं हो जाती और उनका विवरण वेबसाइट पर नहीं दे दिया जाता। शुरुआती आंकड़े 82 लोगों की मौत की पुष्टि करते हैं, जिसके आंकड़े और बढ़ने की संभावना है।

आपको बता दें कि इससे पहले भी म्यांमार की सेना ने ऐसे कई निर्मम हत्याएं की है, जिसे सुनने के बाद अभी भी विश्व का दिल नहीं पसीजा है। चाहे वह पिता के गोद में बैठी बच्ची की हत्या हो, या शांतिपूर्ण ढंग से विरोध कर रहे कई लोगों की हत्य़ा। अब देखना यह है कि म्यांमार का यह खूनी तांडव कब जाकर थमता है।

Load More In विदेश
Comments are closed.