1. हिन्दी समाचार
  2. आगरा
  3. आगरा में मौत के मॉक ड्रिल के बाद एक्शन में प्रशासन, पारस अस्पताल सील, मालिक पर केस दर्ज

आगरा में मौत के मॉक ड्रिल के बाद एक्शन में प्रशासन, पारस अस्पताल सील, मालिक पर केस दर्ज

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: मनीष जैन/ सत्यम दुबे

आगरा: कोरोना महामारी को मात देने के लिए योगी सरकार सूबे में किसी भी स्तर पर कमीं नहीं की है। ऑक्सीजन की सप्लाई से लेकर, आवश्यक दवा की उपलब्धता के साथ-साथ कड़े दिशा निर्देश के बाद राज्य में कोरोना महामारी को कंट्रोल किया जा सका है। महामारी कंट्रोल होते-होते ताज नगरी आगरा से सोशल मीडिया पर एक ऐसा विडियो वायरल हुआ कि राजधानी लखनऊ तक हिल गई। आगर के श्री पारस हॉस्पिटल में कथित 26 अप्रैल को मॉक ड्रील की वारदात से 22 मरीजों की जान चली गई थी। इसके साथ ही अस्पताल के मालिक द्वारा किए गये इस कुकृत्य पर प्रशासन जाग गया है।

आपको बता दें कि अस्पताल के मालिक डॉक्टर डॉ अरिंजय जैन के खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज करने को लेकर जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह ने आदेश दिया है। मौजूदा वक्त में अभी भी 55 मरीज इलाज के लिए भर्ती हैं। जिलाधिकारी ने आगे बताया कि अस्पताल में भर्ती 55 मरीजों को मुख्य चिकित्सा अधिकारी की टीम शिफ्ट कराएगी। 

जिलाधिकारी ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी से 22 मरीजों की मौत की बात निराधार है। ऑक्सीजन कमी से एक भी मौत नहीं हुई है। अस्पताल में हुई सभी मौतों का अलग से सीएमओ टीम से ऑडिट कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि तथाकथित वायरल वीडियो में कहा गया है कि मोदीनगर ड्राई हो गया है। इससे जन सामान्य में भय फैला। यह कृत्य महामारी में ठीक नहीं है।

उन्होंने कहा कि 26 अप्रैल को 149 ऑक्सीजन सिलिंडर, 27 अप्रैल को 121 व 28 अप्रैल को 117 सिलिंडर पारस अस्पताल को दिए गए थे। अस्पताल के पास 16 सिलिंडर रिजर्व थे। ऐसे में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं थी। उधर, अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि ऑक्सीजन बंद करने का कोई मॉकड्रिल नहीं हुआ है। अस्पताल ने 26-27 अप्रैल के मृतकों का ब्योरा भी जारी किया है।  

तथा कथित विडियो वायरल होने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ी कार्रवाई के आदेश दिये हैं। मामला सामने आने के बाद सूबे में सियासत भी गर्माने लगी है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी और यूपी कांग्रेस सचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर हमला बोला है।  

राहुल गांधी ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि “भाजपा शासन में ऑक्सीजन व मानवता दोनों की भारी कमी है। इस ख़तरनाक अपराध के ज़िम्मेदार सभी लोगों के ख़िलाफ़ तुरंत कार्यवाही होनी चाहिए। दुख की इस घड़ी में मृतकों के परिवारजनों को मेरी संवेदनाएँ।

वहीं प्रियंका गांधी ने भी ट्विट किया कि PM: “मैंने ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी”

CM: “ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं। कमी की अफवाह फैलाने वालों की संपत्ति जब्त होगी।”

मंत्री: “मरीजों को जरूरत भर ऑक्सीजन दें। ज्यादा ऑक्सीजन न दें।”

आगरा अस्पताल: “ऑक्सीजन खत्म थी। 22 मरीजों की ऑक्सीजन बंद करके मॉकड्रिल की।”

ज़िम्मेदार कौन।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads