1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर ने कांग्रेस पर कसा तंज, कहा- अक्लमंदी दिखाएं और संन्यास ले लें

आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर ने कांग्रेस पर कसा तंज, कहा- अक्लमंदी दिखाएं और संन्यास ले लें

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

देहरादून: एसएस कलेर ने  कहा कि पूरे भारत मे कांग्रेस पार्टी का जहाज डूबने की कगार पर है, लेकिन कांग्रेसी नेता अब भी गलतफहमी का शिकार हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सीएम हरीश रावत के बयानों को देखते हुए लगता है वो अभी नींद से जागे नहीं है। डूबते जहाज की सवारी कर रहे कांग्रेसी नेता हरीश रावत जनता को बरगलाने की कोशिश कर रहे हैं। हरीश रावत कभी संन्यास की बात कर रहे हैं तो कभी राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने की। उन्होंने ये तक नसीहत दे डाली कि वे संन्यास ले लें। कहा, राजनीति के खेल में वो ही खिलाडी अक्लमंद कहलाता है, जो समय और उम्र के तकाजे को ध्यान में रखकर संन्यास ले लेता है। यही वो समय है, जो उनके अनुकूल है।

आप प्रदेश अध्यक्ष एसएस कलेर ने बुधवार को एक बयान जारी किया। इसमें उन्होंने कांग्रेस पार्टी को आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम रावत बिजली, पानी फ्री देने को लेकर भी जगह-जगह बात कर रहे हैं, लेकिन इसका सच्चाई से कोई वास्ता नहीं है। उन्होंने कहा अगर हरीश रावत जनता के इतने ही हितैषी बनने की कोशिश कर रहे हैं तो सबसे पहले पंजाब के साथ ही अन्य कांग्रेस शासित राज्यों में इसकी पहल करें। वहां बिजली, पानी फ्री करें न कि जनता को बरगलाएं।

राज्य में पूरे दस साल राज करने वाली कांग्रेस ने कभी भी बिजली, पानी को लेकर जनता को कोई रियायत नहीं दी और अब आम आदमी पार्टी के सूबे में आ जाने और उसके बढ़ते जनाधार और कांग्रेस के गिरते ग्राफ को देख पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत आप पार्टी के मुद्दे को लेकर जनता को बरगलाने की कोशिश कर रहे हैं। पर हरीश रावत को अब समझ लेना चाहिए कि जनता उनके मंसूबों को समझ चुकी है और उनके बहकावे में आने वाली नहीं है। इससे पहले भी उन्होंने खुद मां गंगा के आस्तित्व से खिलवाड़ करते हुए इसे एस्केप चैनल घोषित किया और जब सत्ता से बेदखल हुए तो तब उनको हरिद्वार के संतों से माफी मांगने की याद आई। पर उन्हें ज्यादा तवज्जो नहीं मिली।

आप अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टी दोहरे चरित्र वाली पार्टी है, जो कहती कुछ हैं और करती कुछ हैं। पर आप पार्टी की कथनी और करनी में कोई फर्क नहीं है। आप पार्टी जनता के लिए जो कहती है, धरातल पर वो कार्य नजर आते हैं और यही वजह है कि आप पार्टी को दिल्ली की जनता ने लगातार तीन बार सत्ता में बिठाने का कार्य किया। उन्होंने पूर्व सीएम रावत को नसीहत देते हुए कहा कि कांग्रेस के भीष्म पितामह और राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने की प्रतिज्ञा तोडते हुए राजनीति से संन्यास ले लें, क्योंकि राजनीति के खेल में वो ही खिलाडी अक्लमंद कहलाता है, जो समय और उम्र के तकाजे को ध्यान में रखकर संन्यास ले लेता है। यही वो समय है, जो उनके अनुकूल है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...