Home उत्तराखंड 2010 में हुए कुंभ मेले में हुआ था बड़ा हादसा, आज भी जर्जर हालात में है पुल, हादसे को न्यौता क्यों?

2010 में हुए कुंभ मेले में हुआ था बड़ा हादसा, आज भी जर्जर हालात में है पुल, हादसे को न्यौता क्यों?

0 second read
0
9

रिपोर्ट : मोहम्मद आबिद
हरिद्वार : 2021 में होने वाले कुंभ मेले के लिए तैयारियां जोरों पर हैं और लगातार मेला अधिकारी दीपक रावत दौरे कर रहे हैं सुविधाओं सुनिश्चित कर रहे हैं लेकिन कुंभ मेला 2010 का वो हादसा सभी को याद होगा जिसमें दर्जनों श्रद्धालु की मौत हो गई थी लेकिन आज भी हादसे को वो जगह दावत दे रही है।बतादें की हरिद्वार में कुंभ मेले के दौरान जिस पुल पर हादसा हुआ था आज भी वो पुल जर्जर हालात में है और मेला अधिकारी ने निरीक्षण कर अधिकारियों को जल्द मरम्मत करने के  निर्देश दिए हैं।

हरिद्वार 2010 के कुंभ में लालताराव पुल पर एक बड़ा हादसा हो गया था कई लोगों ने इस हादसे में अपनी जान गंवाई थी, और यह पुल आज जर्जर अवस्था में है पुल की रेलिंग टूटी हुई है पुल की मरम्मत करने की बजाय पुल पर पुताई का कार्य कर दिया गया। वहीं मेला अधिकारी दीपक रावत तमाम अधिकारियों के साथ इस पुल का निरीक्षण करने पहुंचे और मौके पर मौजूद अधिकारियों को पुल की मरम्मत जिर्णोद्धार समय रहते करने के लिए जरूरी दिशा निर्देश दिए हैं।

हरिद्वार में प्रवेश करने और पेशवाई मार्ग पर पड़ने वाले मुख्य पुल लालताराव पुल के निरीक्षण के दौरान दीपक रावत ने कहा की पिछले कुंभ मेले के दौरान लालतारो पुल पर दुर्घटना हुई थी जिसको देखते हुए एक सेफ्टी ऑडिट कमेटी बनाई गई थी इस कमेटी की संस्तुति के बाद अलग-अलग पुलों पर कार्य होने हैं जिससे कुंभ में दुर्घटनाओं से बचा जा सके।

पुल की जर्जर अवस्था को लेकर स्थानीय निवासियों का भी कहना है की 2010 के कुम्भ मेले के दौरान भी लालताराव पुल पर बड़ा हादसा हो गया था जिसमे कई लोगो की जान गई थी और अब इस पुल को सही कराया जाए।

Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.