1. हिन्दी समाचार
  2. योग और स्वास्थ्य
  3. गर्दन के दर्द के लिए 3 अति-प्रभावी योग आसन

गर्दन के दर्द के लिए 3 अति-प्रभावी योग आसन

गर्दन दर्द के कारण बहुत सारे हो सकते हैं जिसमे से कुछ खास कारण के बारे में हम बात करेंगे जैसे कि लगातार कंप्यूटर के मानीटर को देखते रहना, किसी भारी वजन वाली वस्तु को अपने सिर पर उठा के चलना, सिर को अधिक समय तक नीचे झुकाये रहना, बहुत देर तक एक ही स्थिति में बैठना आदि के कारण गर्दन में दर्द हो सकता हैं ।

By Prity Singh 
Updated Date

गर्दन का दर्द सबसे आम समस्याओं में से एक है जिसका सामना हर कोई करता है, खासकर वर्क फ्रॉम होम सेट-अप में। बढ़े हुए स्क्रीन समय, लंबे समय तक बैठे रहने और कोई शारीरिक गतिविधि न करने से गर्दन में गंभीर या लगातार दर्द हो सकता है। आपके बचाव के लिए, यहां तीन आसान योगासन हैं जो गर्दन के दर्द को कुछ ही समय में दूर करने में मदद कर सकते हैं।

योग प्राचीन काल से ही भारतीय संस्कृति का अंग रहा है। यह व्यायाम आंदोलनों और ध्यान तकनीकों का एक संयोजन है जो मन और शरीर को एकीकृत करता है। यह लचीलेपन, सहनशक्ति, मानसिक स्वास्थ्य और शरीर की समग्र शक्ति में सुधार करता है।

एक अध्ययन में पाया गया है कि योग गर्दन के दर्द को दूर करने, दर्द से संबंधित कार्य अक्षमता में सुधार करने, सर्वाइकल गति को बढ़ाने, जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने और मूड को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है।

बच्चे की मुद्रा

How to Do Child's Pose (Balasana)

यह मुद्रा रीढ़, गर्दन, ग्लूट्स और हैमस्ट्रिंग को खींचने और आराम करने में मदद करती है। यह आपकी पीठ के निचले हिस्से और गर्दन में तनाव को दूर करने में भी मदद करता है।

पोज कैसे करें?

अपनी पिंडली की हड्डियों पर बैठें, अपने घुटनों को एक साथ रखें, आपके बड़े पैर की उंगलियां छू रही हों और एड़ी बाहर की तरफ निकली हुई हो।
अपने कूल्हों पर आगे की ओर झुकें और अपने सामने नीचे चलें, फिर अपने कूल्हों को वापस अपने पैरों की ओर नीचे करें। धीरे से अपने माथे को फर्श पर रखें, अपनी बाहों को फैलाकर रखें। जितनी देर हो सके इसी पोजीशन में रहें और गहरी सांस लेते रहें।

बिल्ली गाय

Cat Cow Pose: Benefits, Steps & Precautions – YogaHolism

व्यायाम आपकी रीढ़ को फैलाता है और मालिश करता है, रक्त परिसंचरण में सुधार करते हुए आपके धड़, कंधों और गर्दन में तनाव से राहत देता है।
मुद्रा कैसे करें मुद्रा करने के लिए, चारों तरफ आएं। जैसे ही आप अपनी रीढ़ को बढ़ाते हैं, अपने पेट को नीचे जमीन की ओर छोड़ते हुए, ऊपर की ओर देखें। साँस छोड़ें और अपनी रीढ़ को छत की ओर झुकाएँ और अपनी ठुड्डी को अपनी छाती से लगाएँ। कम से कम 1 मिनट तक इस मूवमेंट को करते रहें।

शव मुद्रा

योग मुद्रा- शवासना (शव मुद्रा) | लाभ | स्टेप | संशोधन | सावधानियां

यद्यपि यह योग मुद्रा एक योग सत्र के अंत में की जाती है, यहाँ ऐसा नहीं है। मुद्रा शरीर के दर्द को कम करने, आराम करने और शरीर में तनाव के स्तर को कम करने में मदद करती है।

आसन कैसे करें

योग का महत्त्व एवं आसन Yoga Asana Essay In Hindi - Nayichetana.com

 

 

अपने पैरों को फैलाकर और हथेलियां ऊपर की ओर करके पीठ के बल लेट जाएं। अपनी श्वास पर ध्यान दें। देखिए कैसे धीरे-धीरे आपका शरीर शिथिल हो रहा है। जब तक आप चाहें मुद्रा में रहें।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...