Home उत्तराखंड हरिद्वार महाकुम्भ में इस बार दिखेंगी महिला कमांडो, सीएम रावत दिखाएंगे 24 फ़रवरी को हरी झंडी

हरिद्वार महाकुम्भ में इस बार दिखेंगी महिला कमांडो, सीएम रावत दिखाएंगे 24 फ़रवरी को हरी झंडी

8 second read
0
15

रिपोर्ट: नंदनी तोदी
देहरादून: उत्तराखंड एक नई उचाई को छूने को तैयार है। सीएम रावत ने बीते दिन महिलाओं को नई सौगात दी थी, जब उन्होंने कहा था कि अब पति की सम्पति में महिला का हक़ होगा। एक बार फिर सीएम रावत ने महिलाओं को नई सौगात दी है।

दरअसल, उत्तराखंड पुलिस फाॅर्स में अब महिला कमांडो का गठन किया जा रहा है। इस स्क़ॉड को सीएम रावत 24 फ़रवरी को हरी झंडी दिखाएँगे।

आपको बता दें, 1 अप्रैल से होने वाले महाकुम्भ में इन महिला कमांडो की तैनाती की जाएगी।

यदि राज्य पुलिस की बात की जाये तो राज्य में एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड के ही कमांडो दिखाई देते हैं। लेकिन अब उत्तराखंड के पुलिस विभाग के अलग-अलग इकाई की महिला पुलिस की जवान विशेष ट्रेनिंग लेकर कमांडो के रूप में तैयार किया हो रही हैं।

बता दें, ये 22 महिलाओं का कमांडो ग्रुप पूरी ट्रेनिंग लेने के बाद एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड का हिस्सा बनेगी, जो प्रदेश ही नहीं देश में भी आतंकवाद के खिलाफ लड़ेंगी। अभी तक पुलिस में इन महिलाओं ने 3 नॉट 3, एसएलआर,इंसास रायफल्स और कार्बाइन राइफल का ही उपयोग किया था, लेकिन अब ये कमांडो X-95, Akm5,कॉर्नर शॉट गन, M 5 गन, ग्लोक 9mm, पिस्टल-9mm, Lmg ,टियर स्मोक गन-stf, 51-मोर्टार जैसे हथियारों पर अपना कब्ज़ा जमायेंगी और दुश्मनों से लड़ेंगी।

सवाल ये है कि क्या इन महिला कमांडो को सुरक्षा दी जाएगी। तो आपको बता दें, इन महिला कमांडो की सुरक्षा को ATS सुनिश्चित करेगा।

इस मामले में, नीलेश आनंद भरणे का कहना है कि इनकी शुरुआती ट्रेनिंग हरिद्वार के साथ पीटीसी नरेन्द्र नगर में हुयी है, लेकिन अब इन कमांडो को बेहतर ट्रेनिंग देने के लिए NSG, ग्रेहाउंड जेसे ट्रेनिंग सेंटरों में भेजा जायेगा।

जब एक ट्रेनिंग ले रही कमांडो पार्वती से बात हुई तो उन्होंने कहा है कि राज्य में महिला सशक्तिकरण का ये बड़ा उदाहरण है और इस ट्रेनिंग से वो पुरुषों कि भांति दुश्मनों के छक्के छुड़ाने के लिए पीछे नही रहेगी।

Load More In उत्तराखंड
Comments are closed.