Home Breaking News नोएडा एसएसपी वैभव कृष्ण सस्पेंड, क्यों गिरी गाज जानें पूरी कहानी ?

नोएडा एसएसपी वैभव कृष्ण सस्पेंड, क्यों गिरी गाज जानें पूरी कहानी ?

6 second read
0
112

नोएडा के एसएसपी वैभव कृष्ण पर योगी सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए उन्हे सस्पेंड कर दिया है। एसएसपी वैभव कृष्ण कथित वीडियो के बाद विवादों में आए थे। योगी सरकार के ये बड़ी कार्रवाई है। इसी के साथ जिन अधिकारियों के शिकायत पत्र में नाम थे उन्हें भी हटा दिया गया है। कुल 14 IPS अधिकारियों के तबदले किए गए हैं। आखिर क्यों की गई एसएसपी वैभव कृष्ण सहित बड़े पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई।

आपको बता दें कि, वैभव कृष्ण का एक महिला के साथ एक चैट का विडियो वायरल हुआ था इसके बाद गुजरात फॉरेंसिक लैब सेक्स चैट का वारल वीडियो जांच के लिए भेजा गया था जिसकी रिपोर्ट में वीडियो सही पाया गया जबकि वैभव ने इसे फर्जी बताया था। लैब रिपोर्ट के बाद योगी सरकार ने फौरन कार्रवाई की और तीन सदस्य विशेष जांच टीम गठित कर 15 दिनों पर रिपोर्ट देने का आदेश दिया।

महिला के साथ कथित सेक्स चैट वायरल होने के बाद वैभव कृष्ण ने न सिर्फ FIR दर्ज कराई, जबकि प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सफाई दी कि यह उनकी छवि खराब करने की साजिश है। उन्होंने 5 आईपीएस अफसरों का नाम लेते हुए उन पर पोस्टिंग के लिए रिश्वत लेने समेत भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के मामलों में उनकी कार्रवाई से नाराज अफसरों ने एडिटेड विडियो वायरल किया है।

वैभव कृष्ण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में की थी और बताया था पांच आईपीएस अफसरों के खिलाफ सीएम ऑफिस, डीजीपी व अपर मुख्य सचिव (गृह) को करीब एक महीना पहले गोपनीय जांच रिपोर्ट भेजी थी। तबसे एक बड़ी लॉबी उनके खिलाफ साजिश रच रही है और फेक विडियो इसी का हिस्सा है। गोपनीय रिपोर्ट को मीडिया में जारी करने पर खुद डीजीपी ओपी सिंह ने नाराजगी जाहिर की थी और वैभव कृष्णा से जवाब तलब किया था।

एसएसपी वैभव कृष्ण के मुताबिक, उन्होंने गाजियाबद के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह, सुलतानपुर के एसपी हिमांशु कुमार, एसएसपी (एसटीएफ) राजीव नारायण मिश्र, बादा के एसपी  गणेश साहा और रामपुर के एसपी  डॉ. अजय पाल शर्मा के खिलाफ जांच रिपोर्ट भेजी थी। एसएसपी ने साजिश के लिए इन्हीं अफसरों पर आरोप लगाए थे।

एसएसपी ने  नोएडा सेक्टर-20 थाने में इसकी रिपोर्ट दर्ज करवाकर मेरठ आईजी रेंज से इसकी जांच करवाने की अपील की थी।

Share Now
Load More In Breaking News
Comments are closed.