Home उत्तर प्रदेश UP: गंदी बातें कर पुरूषों के कपड़े उतरवा देती थी महिलाएं, फिर ‘पुलिसवाले’ आकर करते वसूली

UP: गंदी बातें कर पुरूषों के कपड़े उतरवा देती थी महिलाएं, फिर ‘पुलिसवाले’ आकर करते वसूली

0 second read
0
88

नई दिल्ली : देश में जारी कोरोना महामारी के बीच भी लगातार हनी ट्रैप के मामले सामने आ रहे है, जिसे लेकर लोगों में काफी दहशत में है। वे खुद को इस जाल में फंसने से बचाने के लिए कई तरह की सावधानियां भी बरतते है। इसके बावजूद भी वो इस ट्रैप का शिकार हो जाते है और जब वे इस जाल में फंस जाते है, तो उनके पास सिवाय भुगतान करने के अलावा कोई राह नहीं बचता। क्योंकि अगर वो कुछ ऐसा कदम उठाते है तो उनके वीडियो वायरल करने, अश्लील चैट और फोटो वायरल करने से जैसे कई समस्याओं का शिकार होना पड़ता है और इसके एवज में उन्हें भुगतान करना पड़ता है।

एक ऐसा ही मामला उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ का है। जानकारी के मुताबिक लखनऊ के थाना हजरतगंज क्षेत्र में एक पीड़ित व्यक्ति ने पुलिस को सूचना दी थी कि दो महिलाएं और तीन पुलिस वाले मिलकर उसे ब्लैकमेल कर रहे हैं और उसका अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर उससे पैसा मांग रहे हैं। जिस वजह से वो मानसिक रूप से पूरी तरह से परेशान हो गया है। इस परेशानी से वो जल्द से जल्द निकलना चाहता है नहीं तो उसके सामने सुसाइड करने के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं है।

पीड़ित की इस शिकायत को पुलिस ने गंभीरता से लिया और सर्विलांस की एक टीम को इस मामले की जांच में लगाया। इस दौरान पीड़ित शख्स ने पुलिस को सूचना दी कि दो महिलाएं और तीन पुलिस वाले कानपुर रोड के पास गाड़ी में उससे पैसे लेने आए हैं। पुलिस ने एक टीम बनाई और सर्विलांस की मदद से पीड़िता के साथ मौके पर पहुंच गई।

मौके पर तीन आरोपी पुलिस की वर्दी में थे और उनके साथ दो महिलाएं भी थीं। पुलिस ने पांचों को हिरासत में लिया और थाने ले गई। पूछताछ में उनकी पहचान पंकज गुप्ता, अतुल सक्सेना और अजीजुल हसन सिद्दीकी के रूप में हुई। इनके साथ दो महिलाएं भी पकड़ी गई हैं। जिनका काम शिकार को फांसना था।

पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर के मुताबिक यह गिरोह पेशेवर तरीके से सोशल मीडिया साइट पर अपने आसपास के लोगों को पहचानकर टेलीफोन से मीठी-मीठी बातें करते थे और जिसके बाद जाल में फंसाकर पहले से ही निर्धारित स्थान पर बुलाया जाता था। जैसे ही कोई भी व्यक्ति उस स्थान पर पहुंचता तो इस ग्रुप में शामिल दोनों महिलाएं आने वाले व्यक्ति से अश्लील बातें कर उसके कपड़े उतरवा लेती थी। ठीक उसी समय पहले से ही निर्धारित तरीके से 3 लोग पुलिस की वर्दी में आ जाते थे और कपड़े उतारते हुए व्यक्ति का वीडियो बनाकर फिर उसे ब्लैकमेल करते थे। इस गिरोह द्वारा बनाए गए वीडियो के माध्यम से कई बार पैसे वसूले जाते थे और मना करने पर वीडियो वायरल करने व मुकदमा लिखने की धमकी भी देते थे।

आपको बता दें कि पुलिस ने इस मामले में दो महिलाओं के साथ ही तीन युवकों को भी गिरफ्तार किया है, जो पुलिस के वर्दी में थे। ये सभी आरोपी एक सोशल साइट के जरिये पुरूषों को अपने चंगुल फंसाते थे। इनके खिलाफ पुलिस ने धारा 419, 420, 170 ,171, 384 ,411 और 34 में अभियोग पंजीकृत आगे की कार्रवाई की जा रही है।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.