Home mumbai उद्धव सरकार ने अपने सबसे बड़े वजीर परमवीर सिंह को पद से हटाया, इस अधिकारी को मिली कमान

उद्धव सरकार ने अपने सबसे बड़े वजीर परमवीर सिंह को पद से हटाया, इस अधिकारी को मिली कमान

1 second read
0
9

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

मुंबई: देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में उस वक्त हड़कंप मच गया जब, एशिया के सबसे बड़े धनपति और देश के सबसे बड़े उद्योगपति अनिल अंबानी के घर एंटीलिया के सामने बीते 25 फरवरी को एक अज्ञात कार खड़ी मिली। पुलिस ने जब सूचना पाकर कार की ज़ॉच की तो उस कार से एक धमकी भरा पत्र मिला। जिसके बाद मामले को गंभीरता से लेते हुए केंद्रीय जॉच एंजेंसी को जॉच सौंपी गई। इस मामले के कारण निशाने पर चल रही उद्धव सरकार ने बुधवार को बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया है।

आपको बता दें कि उद्धव सरकार ने मुंबई पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह का तबादला कर दिया है। परमबीर सिंह की जगह हेमंत नगराले को नये पुलिस कमिश्नर के तौर पर जिम्मेदारी दी गई है। परमबीर सिंह को सरकार ने महाराष्ट्र में डीजी होमगार्डबना दिया है। वहीं रजनीश सेठ महाराष्ट्र के नये पुलिस डीजीपी होंगे।

परमबीर सिंह पर गाज इसलिए गिरी है कि मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर कार में मिले विस्फोटक और मनसुख हीरेन की मौत के मामले में एनआईए ने मुंबई पुलिस अधिकारी सचिन वजे को गिरफ्तार किया है। इसके बाद इसकी ऑच पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह तक जा पड़ी है। परमवीर पर गंभीर आरोप लगा जिसके बाद प्रशासन ने बड़ा फेरबदल कर दिया है।

इससे पहले मंगलवार को परमवीर सिंह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मुलाकात की थी। आपको बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत के संदिग्ध मौत के मामले में पुलिस द्वारा की गई ज़ॉच को लेकर परमवीर सिंह भी सवालों के घेरे में आये थे।

आइये जानते हैं कौन हैं परमवीर सिंह:

परमबीर सिंह साल 1988 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। आपको बता दें कि इससे पहले वो भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो (एसीबी) के महानिदेशक के तौर पर तैनात थे। परमबीर को ‘अंडरवर्ल्ड स्पेशलिस्ट’ के तौर पर भी माना जाता है। परमबीर उस वक्त चर्चा में आये थे, जब मालेगांव ब्लास्ट की जांच में साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की गिरफ्तारी की थी। परमबीर सिंह एटीएस में डिप्टी आईजी के पद पर भी रह चुके हैं। सिंह ने 1993 के सीरियल बम ब्लास्ट के एक आरोपी को भी उन्होंने पकड़ा था।

आइये जानते हैं कौन हैं हेमंत नगराल:

हेमंत नगराले को परमवीर सिंह की जगह नया पुलिस कमिश्नर बनाया गया है। नगराले साल 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। इससे पहले नगराले पुलिस महानिदेशक के तौर पर अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे थे। नगराले डीजीपी लीगल और टेक्निकल के पद पर रह चुके हैं। साल 2016 में नगराले को नवी मुंबई में पुलिस कमिश्नर की जिम्मेदारी दी गई थी। आपको बता दें कि नगराले ने 26/11 हमले में अहम भूमिका निभाई थी।

 

 

Load More In mumbai
Comments are closed.