1. हिन्दी समाचार
  2. खेल
  3. Tokyo Olympics 2020: सेमीफाइनल में विश्व की नंबर-1 खिलाड़ी से हारी पीवी सिंधु, कल खेलेंगी ब्रॉन्ज मेडल के लिए

Tokyo Olympics 2020: सेमीफाइनल में विश्व की नंबर-1 खिलाड़ी से हारी पीवी सिंधु, कल खेलेंगी ब्रॉन्ज मेडल के लिए

टोक्यो ओलंपिक में शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की करने वाली भारत की महिला बैडमिंटन खिलाड़ी आज अपने गलतियों की वजह से हार गई। उन्हें सेमीफाइनल मुकाबले में विश्व की नंबर-1 चीनी ताइपे की ताई जू यिंग के हाथों 0-2 से हार का सामना करना पड़ा। रियो ओलंपिक की सिल्वर मेडल विजेता सिंधु भारत की सबसे बड़ी पदक उम्मीद थी लेकिन इस हार के साथ यह सपना टूट गया।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : टोक्यो ओलंपिक में शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की करने वाली भारत की महिला बैडमिंटन खिलाड़ी आज अपने गलतियों की वजह से हार गई। उन्हें सेमीफाइनल मुकाबले में विश्व की नंबर-1 चीनी ताइपे की ताई जू यिंग के हाथों 0-2 से हार का सामना करना पड़ा। रियो ओलंपिक की सिल्वर मेडल विजेता सिंधु भारत की सबसे बड़ी पदक उम्मीद थी लेकिन इस हार के साथ यह सपना टूट गया।

सिंधु को जू यिंग के हाथों 40 मिनट तक चले मुकाबले में 18-21, 12-21 से हार का सामना करना पड़ा। सिंधु ने पहले गेम में बेहतर किया और शुरूआत में बढ़त भी ली लेकिन जू यिंग ने वापसी करते हुए पहला गेम अपने नाम किया। इसके बाद दूसरे गेम में सिंधु कोई चुनौती पेश नहीं कर सकीं और यह गेम भी हार गईं।

सिंधु भले ही स्वर्ण पदक की रेस से बाहर हो गई हैं लेकिन उनके पास अभी कांस्य हासिल करने का मौका है। सिंधु का कांस्य पदक मुकाबले में सामना चीन की ही बिंग जिआओ से रविवार को होगा। बिंग जिआओ को एक अन्य सेमीफाइनल में हमवतन चेन यू फेई से 1-2 से हार का सामना करना पड़ा। सिंधु ने पांच साल पहले रियो ओलंपिक में रजत पदक जीता था। उन्हें फाइनल में स्पेन की कैरोलिना मारिन के हाथों हार झेलनी पड़ी थी। इस बार सिंधु से रियो के प्रदर्शन से बेहतर करने की उम्मीद थी। लेकिन ऐसा नहीं हो सका।

सिंधु के पिता ने क्या कहा

हैदराबाद में बैठकर पीवी सिंधु का परिवार सेमीफाइनल मुकाबला देख रहा था। मैच के बाद उनके पिता पीवी रमन्ना ने कहा, “जब कोई खिलाड़ी लय में नहीं आ पाता तो यह सब होता है। कल वह अच्छी लय में थी और वापसी कर उसने अकाने यामागुची को हराया था। आज ताई जु यिंग ने उसे वापसी करने का कोई मौका नहीं दिया।” उन्होंने कहा कि, ‘ताइ जु ने काफी चालाकी भरा गेम खेला। उसने गेम को डोमिनेट किया। उसकी रणनीति एकदम सही थी और उसने सिंधु को आक्रामक खेल नहीं खेलने दिया।’

भारत के लिए अच्छा नहीं रहा शनिवार का दिन

भारतीय मुक्केबाजी के लिए भी शनिवार का दिन निराशाजनक रहा जिसमें दुनिया के नंबर एक मुक्केबाज अमित पंघाल (52 किग्रा) के बाद पूजा रानी (75 किग्रा) भी अपनी प्रतिद्वंदी से हारकर टोक्यो ओलंपिक से बाहर हो गयीं। इधर भारतीय निशानेबाज अंजुम मोदगिल और तेजस्विनी सावंत महिलाओं की 50 मीटर राइफल थ्री के फाइनल में जगह बनाने से चूक गए। क्वालीफाइंग राउंड में अंजुम 15वें और तेजस्विनी 33वें स्थान पर रहीं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...