Home उत्तर प्रदेश बुनकर ने सरकार को मनाने के लिए और अपना हक़ मांगने के लिए ताली और थाली बजाई

बुनकर ने सरकार को मनाने के लिए और अपना हक़ मांगने के लिए ताली और थाली बजाई

0 second read
0
5

वाराणसी : बुनकर अपना अपना कारोबार बंद कर सरकार से 13 दिनों से फ्लैट रेट बिजली की मांग कर रहे है। 15 अक्टूबर से बुनकर कारोबार बंद कर हड़ताल कर आंदोलन कर रहे है।

मंगलवार को पीलीकोठी, बजरडीहा, जैतपुरा, जलालीपुरा, पुराना पुल, मदनपुर समेत कई इलाकों में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाकर सरकार के खिलाफ थाली, ताली बजाकर और मोमबत्ती जलाकर विरोध-प्रदर्शन किया।

उत्तर प्रदेश बुनकर सभा और वाराणसी वस्त्र बुनकर संघ, सभी बुनकर बिरादराना तंजी़म के सरदार के आह्वान पर आज सारे बुनकरों ने अपने अपने घरो के छतों से और घरो के बहार थाली और ताली बजा कर सरकार का ध्यान अपने मांगो की तरफ दिलाया।

वस्त्र बुनकर संघ के अध्यक्ष राकेश कान्त राय ने कहा की कोरोना काल में कोरोना को हराने के लिए प्रधान मंत्री मोदी जी ने एक मन्त्र दिया था। थाली और ताली बजाने के लिए ताकि एक दूसरे का हौसला बना रहे।

आज हम सभी बुनकर अपने सरकार को मनाने के लिए और अपना हक़ मांगने के लिए सभी ने ताली और थाली बजाई। 13 दिनों से कोई बुनकरों का हाल जानने नहीं आया। प्रियंका गांधी ने कल हम लोगों को अपना समर्थन दिया है। सरकार के वादाखिलाफी के विरोध में वो हमारे साथ है।

पार्षद हाजी ओकास अंसारी ने कहा की जिस हिम्मत और हौसले के साथ सारे बुनकर भाई अपना अपना कारोबार बंद कर भूखे सो कर सरकार से फ्लैट रेट बिजली की मांग कर रहे है,वो काबिले तारीफ है।

सरकार गरीब बुनकर से 1 लूम का 72 रुपए की जगह 1500 रुपये वसूलने की तैयारी में है। अक्टूबर में नई योजना लाने को कहा गया था। सरकार ने अभी तक कुछ भी नहीं किया।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.