Home Breaking News राहुल के ट्वीट पर वित्त मंत्री का पलटवार, कहा- कांग्रेस बार-बार देश के लोगों गुमराह करना चाहती है

राहुल के ट्वीट पर वित्त मंत्री का पलटवार, कहा- कांग्रेस बार-बार देश के लोगों गुमराह करना चाहती है

42 second read
0
9

राहुल गांधी मोदी और मोदी सरकार पर विभिन्न मुद्दों को लेकर निशाना साधते रहते हैं। कोरोनो वायरस, किसान आंदोलन, अर्थव्यवस्था सहित कई विषयों को लेकर वे केंद्र सरकार की आलोचना करते रहते हैं।

गुरुवार की सुबह केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए ट्वीट कर कहा कि जितने पैसे सरकार ने उद्योगपतियों के माफ किए इतने पैसों से 11 करोड़ देशवासियों को ₹20-20 हज़ार दिए जा सकते थे।

और अब इस पर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस बार-बार देश के लोगों गुमराह करना चाहती है। वित्त मंत्री ने कर्ज माफी, रिकवरी और अन्य मसले से जुड़े अपने कुछ पुराने ट्वीट शेयर किए और कहा कि अगर राहुल गांधी भूल गए हैं तो इसे देख लें।

निर्मला सीतारमण ने अप्रैल में किए गए ट्वीट के जरिए राहुल पर निशाना साधा। वित्त मंत्री के पुराने ट्वीट में नीरव मोदी, मेहुल चौकसी, विजय माल्या के कर्ज और रिकवरी का भी जिक्र है।

राहुल गांधी ने ट्वीट में लिखा कि,”2378760000000 रुपय का क़र्ज़ इस साल मोदी सरकार ने कुछ उद्योगपतियों का माफ़ किया। इस राशि से कोविड के मुश्किल समय में 11 करोड़ परिवारों को 20-20 हज़ार रुपय दिए जा सकते थे। मोदी जी के विकास की असलियत!”

राहुल गांधी ने दावा किया है कि इस साल सरकार ने उद्योगपतियों के 2 लाख 37 हजार करोड़ रुपये माफ़ किए हैं। इससे पहले भी राहुल गांधी केंद्र सरकार पर निशाना साध चुके हैं।

इससे पहले भी राहुल गांधी ने कहा था कि पीएम मोदी ने हर आदमी के बैंक खाते में 15 लाख और हर साल 2 करोड़ नौकरियां देने का वादा किया था। नोटबंदी की याद दिलाते हुए राहुल बोले कि पीएम मोदी ने कहा था कि मुझे 50 दिन का समय दीजिए सब ठीक कर दूंगा। कोरोना वायरस को लेकर भी पीएम मोदी ने कोरोना के खिलाफ युद्ध जीतने के लिए 21 दिनों का समय मांगा था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

राहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी के झूठ के लंबे इतिहास के कारण किसान उन पर भरोसा नहीं कर रहे हैं। किसान लगातार कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

इस बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा। राहुल ने कहा, ‘किसान की आत्मनिर्भरता के बिना देश कभी आत्मनिर्भर नहीं बन सकता। कृषि विरोधी कानून वापस लो। किसान बचाओ, देश बचाओ!’

Load More In Breaking News
Comments are closed.