1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. स्वतंत्र देव सिंह का अखिलेश यादव पर बड़ा हमला, बताया- यूपी का सबसे फिसड्डी सांसद, जानिए क्या है वजह

स्वतंत्र देव सिंह का अखिलेश यादव पर बड़ा हमला, बताया- यूपी का सबसे फिसड्डी सांसद, जानिए क्या है वजह

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने पूर्व यूपी सीएम और सपा नेता अखिलेश यादव पर जमकर हमला किया है। साथ ही उन्हें यूपी का सबसे बड़ा फिसड्डी सांसद भी बताया। जो उन्हीं के एक सवाल का जवाब था। दरअसल, मंगलवार को स्वतंत्र देव सिंह ने सवाल किया कि, ”लोकसभा में उत्तर प्रदेश के कौन से सांसद का प्रदर्शन सबसे निराशाजनक रहा है।” सिंह ने अपने प्रश्न का खुद ही उत्तर लिखा… ”36 प्रतिशत उपस्थिति और शून्य प्रश्‍नों के साथ अखिलेश यादव जी उत्तर प्रदेश के सबसे फिसड्डी सांसद रहे हैं।”

“केंद्र और प्रदेश में राम भक्तों की सरकार”

बीजेपी मुख्यालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, सिंह ने कहा कि जिनकी राजनीति, कामकाज और कार्यशैली ही भ्रष्टाचार की रही है, जिन्होंने अपनी सरकार में खुले तौर पर स्वयं को रामद्रोही साबित किया है वे भगवान राम व उनके नाम पर हो रहे काम पर ‘ट्रस्ट’ (विश्वास) कैसे कर सकते हैं? बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने सपा मुखिया यादव के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ”आज वे लोग आस्था और निष्ठा की बातें कर रहे हैं, जिन्होंने रामभक्तों पर गोलियां चलवाईं और जो तुष्टिकरण व वोटबैंक के डर से रामनगरी अयोध्या जाना तो दूर उसका नाम अपनी जुबान पर लाने से डरते थे। ऐसे लोग विश्व भर के करोड़ों रामभक्तों के आस्था के प्रतीक श्रीराम मंदिर के निर्माण में बाधा उत्पन्न करने का प्रयास नहीं करें, ऐसा कैसे संभव है।”

स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि, ”हास्यास्पद यह भी है कि कांग्रेस के युवराज (राहुल गांधी) के आज बोल फूट रहे हैं जबकि केंद्र में जब उनकी सरकार थी तो उनके मंत्री सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दे रहे थे कि मंदिर ना बने। वे भगवान राम के अस्तित्व के सबूत मांगते थे, लेकिन अखिलेश जी हों या राहुल जी उनको नहीं भूलना चाहिए कि केंद्र और प्रदेश दोनों ही जगह अब राम भक्तों की सरकार है और भगवान राम के काज में कोई बाधा नहीं आएगी।”

समाजवादी पार्टी ने किया 350 से ज्यादा सीटों का दावा

बता दें कि 2022 में यूपी विधानसभा के चुनाव होने है। उससे पहले ही सपा ने 350 से ज्यादा सीटें जीतने का दावा किया है। वहीं उन्होंने यह भी कहा कि, ”अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट में भूमि खरीद के मामलों में भारी घोटाला होने की खबर है, करोड़ों रुपयों की हेराफेरी का मामला बताया जा रहा है, इसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। ट्रस्ट के सभी सदस्यों को इस्तीफा देना चाहिए। अयोध्या के धर्मपुर गांव में किसानों की भूमि हवाई अड्डे के लिए अधिग्रहित की जा रही है। किसानों को समुचित दर पर मुआवजा मिलना चाहिए।”

हालांकि अब जब साफ हो गया है कि आप सांसद संजय सिंह द्वारा लगाया गया आरोप बेबुनियाद है और यह उनकी सोची समझी साजिश थी। इसे लेकर अब हर कोई संजय सिंह और उनका साथ देने वाले नेताओं की आलोचना कर रहा है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads