Home सियासत सुरजेवाला का मोदी सरकार पर बड़ा आरोप कहा- भारत माता की सरजमीं को चीन के कब्जे में दिया

सुरजेवाला का मोदी सरकार पर बड़ा आरोप कहा- भारत माता की सरजमीं को चीन के कब्जे में दिया

5 second read
0
15

कांग्रेस प्रवक्ता व नेता रणदीप सुरजेवाला ने रविवार को AICC मुख्यालय में हुई एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पीएम और उनकी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी सरकार देश की सुरक्षा को खतरे में डाल रही है। मोदी सरकार ने देश की भूभागीय अखंडता से समझौता व खिलवाड़ किया है।

कांग्रेस नेता केंद्र सरकार और पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए चीन सीमा को लेकर कहा कि मोदी सरकार ने भारत माता की सरजमीं को चीन के कब्जे में दे दिया है। भारतीय क्षेत्र को चीन को सरेंडर किया है। इससे बड़ा खतरा देश की अखंडता के लिए नहीं हो सकता। उन्होंने अपने सम्बोधन में यह भी कहा कि मोदी सरकार ने हमारी सेना के शौर्य व पराक्रम को कमजोर करने की कोशिश क्यों की है।

उन्होंने पीएम मोदी से कई सवाल भी किये जिसमें उन्होंने कहा कि पीएम मोदी को इन सवालों का जवाब देना ही पड़ेगा। सुरजेवाला ने पीएम मोदी से सवाल पूछा कि पूरा देश शांति चाहता है, परंतु शांति किस कीमत पर? क्या देश की सरजमीं को चीन को सौंप कर शांति स्थापित की जा सकती है? इसका जवाब मोदी सरकार को देना पड़ेगा।

मोदी सरकार ने गलवान घाटी और पैंगोंग त्सो इलाके के अंदर हमारी सरजमीं को चीन को सौंप दिया। इसलिए चीन के साथ कोई समझौता राष्ट्रीय अखंडता व भूभागीय अखंडता से खिलवाड़ कर नहीं हो सकता।

मोदी सरकार बताये कि उन्होंने गलवान घाटी में जहाँ हमारे सैनिकों ने भारत की सरजमीं की सुरक्षा करते हुए शहादत दी, वहां पर पेट्रोलिंग प्वाइंट 14 के पीछे हमारी सेना को क्यों हटाया है और भारत की सीमा के अंदर बफर जोन क्यों बनाया है?

उन्होंने कहा कि सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण और सेना के पराक्रम और शौर्य की पहचान बना कैलाश रेंज, जिस पर हमारी सेना चीन से बहुत ऊपर थी, जिससे चीन घबराता था। मोदी सरकार ने इस समझौते में पैंगोंग लेक के दक्षिणी किनारे पर से हमारी सेना को हटाने का दुर्भाग्यपूर्ण निर्णय क्यों लिया?

उन्होंने प्रेस वार्ता के दौरान पीएम मोदी और उनकी सरकार पर आरोप लगाया कि क्या मोदी सरकार भूल गई है कि पैंगोंग त्सो झील के उत्तरी किनारे पर फिंगर-4 पर हमारी सेना की पोस्ट है; मोदी सरकार भूभागीय अखंडता से खिलवाड़ करते हुए फिंगर-4 से फिंगर-3 तक पीछे क्यों हट रही है?

सुरजेवाला बोले भारत के मुताबिक सदैव हमने फिंगर-8 तक हमारी LAC को माना है, तो फिर भारत की सरजमीं के अंदर ही फिंगर-8 और फिंगर-3 के अंदर बफर जोन स्थापित कर देश की भूभागीय अखंडता से घिनौना समझौता और जमीन का सरेंडर मोदी सरकार क्यों कर रही है?

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा चीन को लेकर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह द्वारा संसद में बयान दिए जाने के बाद कांग्रेस ने निशाना साधा है। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार चीन को वापस धकेल कर अप्रैल 2020 की यथास्थिति कब स्थापित करेगी? इस बारे में मोदी सरकार का क्या रास्ता और दृष्टि है?

उन्होंने आगे कहा कि राष्ट्रीय अखंडता और भूभागीय अखंडता के साथ इस प्रकार का समझौता कदापि स्वीकार नहीं किया जा सकता है।

Load More In सियासत
Comments are closed.