Home विदेश ईरान पर ज्यादा से ज्यादा दबाव बनाना चाहता है अमेरिका।

ईरान पर ज्यादा से ज्यादा दबाव बनाना चाहता है अमेरिका।

2 second read
0
50

ईरानी मेजर जनरल कासिम सुलेमानी को मारने के बाद अमेरिका ईरान पर ज्यादा से ज्यादा दबाव बनाने की नीति पर काम कर रहा है। जबकि तेहरान ने अमेरिका को करारा जवाब देने की धमकी दी है। इसपर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ट्वीट कर कहा है कि अगर ईरान अमेरिका पर हमला करता है तो उसके खिलाफ उनका देश अबतक का सबसे भीषण हमला करेगा।

इससे पहले अमेरिका ने ईरान पर कई तरह के प्रतिबंध लगा दिए हैं जिससे वहां की अर्थव्यवस्था चरमरा गई है। ईरान ने भी 2019 के मध्य से तनाव बढ़ाने का काम किया है। ईऱान ने ओमान की खाड़ी में शिपिंग को निशाना बनाया था, यूएस के ड्रोन को अभी हाल ही में मार गिराया था औऱ फिर सऊदी अरब के तेल संयंत्र पर हमले की योजना बनाई थी। ये सारे कदम ईरान ने अमेरिका को नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से उठाए थे।

इसमे कोई दो राय नहीं है कि सुलेमानी ईरान के ताकतवर व्यक्ति थे औऱ अमेरिका के लिए सुलेमानी किसी चुनौती से कम नहीं था। क्योंकि सुलेमानी कई इस्लामिक संगठनों और देशों का समर्थन हासिल करने में सक्षम थे। अमेरिका ने ईरान के बैक चैनल से संपर्क किया और उसने जनरल को निशाना बनाने की योजना बनाई थी। सुलेमानी ISIS को खत्म करने में सहयोग कर सकते थे लेकिन वह अमरिका के लिए भी बड़ी चुनौती थे।

जबकि दूसरी तरफ यह भी कहा जा रहा है कि अमेरिका मे होने वाले चुनावों में फायदा उठाने के लिए यह हमला किया गया है। मध्य एशिया में ईरान के प्रभाव को कम करने के लिए भी ड्रोन अटैक किया गया था। ईरान के साथ परमाणु समझौते पर चल रही उठापटक को किनारे करते हुए भी ट्रंप ने ईरान पर हमला किया है क्योंकि यूएस की नजर में यह एक बड़ी चुनौती है।

आपको बता दें कि ईरान में अमेरिकी ड्रोन को मार गिराया गया था तब अमेरिका ने कहा था कि ईरान को इसकी बड़ी कीमत चुकानी होगी। बराक ओबामा के समय हुई न्यूक्लियर डील से जब ईरान ने किनारा कर लिया तो अमेरिका ने इसे भी प्रतिबंधों का आधार बनाया था। इसके बाद ही स्थिति तनावपूर्ण हो गई थी।

Share Now
Load More In विदेश
Comments are closed.