Home ताजा खबर बिहार चुनाव : बड़े भाई तेजप्रताप और माँ राबड़ी देवी का आशीर्वाद लेकर तेजस्वी ने भरा नामांकन

बिहार चुनाव : बड़े भाई तेजप्रताप और माँ राबड़ी देवी का आशीर्वाद लेकर तेजस्वी ने भरा नामांकन

0 second read
0
15
Rann of Bihar: Tejashwi filed nomination with the blessings of elder brother Tej Pratap and mother Rabri Devi

बिहार चुनाव जैसे जैसे नजदीक आ रहे है वैसे -2 सियासी पारा ऊपर जा रहा है। आपको बता दे, चुनाव आयोग ने बिहार में चुनाव का एलान कर दिया है और तीन चरणों में बिहार का चुनाव् होने वाला है। पहले चरण के चुनाव 28 तारीख को है जिसके तहत 71 सीटों पर वोट डाले जायेंगे।

इस सीटों के लिए अब नामांकन शुरु हो गया है और आज आरजेडी प्रमुख और विपक्ष के बड़े चेहरे तेजस्वी यादव ने नामांकन दाखिल कर दिया है। उन्होंने सबसे पहले अपनी माँ राबड़ी देवी का आशीर्वाद लिया और बाद में अपने भाई के पैर भी छुए।

Image

लालू यादव की पार्टी आरजेडी इस समय उनके बेटे तेजस्वी के कंधों पर ही टिकी हुई है। लालू यादव इस समय चारा घोटाले के आरोप में जेल में है और इस समय आरजेडी के पुरे चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी अब तेजस्वी के ऊपर ही है।

नामांकन से पहले तेजस्वी ने ट्वीट भी किया है जिसमें उन्होंने बिहार के प्रति अपने वचन को दोहराया है। उन्होंने लिखा, मैंने सौगंध ली है कि बिहार के हित में सदा कार्य करता रहूँगा। हर बिहारवासी को जब तक उनका हर अधिकार नहीं दिला देता, चैन से बैठने वाला नहीं हूँ।

आगे उन्होंने लिखा है कि इस सौगंध को पूरा करने के क्रम में आज नामांकन करने जा रहा हूँ। परिवर्तन के इस शंखनाद में आपके स्नेह, समर्थन और आशीर्वाद का आकांक्षी हूँ। आपको बता दे की इस मौके पर राबड़ी देवी के हाथ में लालू यादव जी की तस्वीर भी थी और उन्होंने कहा की वो लालू यादव को मिस कर रही है।

Image

इस बार के बिहार चुनाव इस लिए भी ख़ास है क्यूंकि एक तरफ आरजेडी के नेता लालू यादव जेल में है वही एलजेपी के लीडर रामविलास पासवान जी की असमय मौत हो चुकी है। दूसरी और चिराग पासवान बीजेपी से अलग होकर अपने दम पर चुनाव में इस बार ताल ठोक रहे है।

बात करे बीजेपी की तो इस बार बीजेपी ने अपने पुराने साथी जेडीयू का साथ थामा है और नीतीश कुमार को ही अपना सीएम कैंडिडेट बना दिया है। इस बार बीजेपी और जेडीयू साथ मिलकर चुनाव लड़ रहे है।

Image

इससे पहले के चुनावों में जेडीयू और आरजेडी ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा था और जीत भी लिया था। इसके बाद करप्शन के मुद्दे पर नितीश कुमार ने सरकार छोड़ दी और बीजेपी ने उन्हें समर्थन दे दिया और सरकार में हिस्सेदार बन गई।

कांग्रेस की बात करे तो इस बार कांग्रेस ने अपने पुराने साथी आरजेडी पर एक बार फिर भरोसा जताया है और 50 से अधिक सीट पर इस बार वो बिहार में चुनाव लड़ने वाली है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बार राज्‍य में तीन चरणों में ही मतदान संपन्‍न कराया जाएगा।

Load More In ताजा खबर
Comments are closed.