Home बिज़नेस वित्त वर्ष 2016-17 से 2018-19 के बीच यात्री सेवाओं से बढ़ी रेलवे की आमदनी, पार्सल सर्विसेज से आय में कमी

वित्त वर्ष 2016-17 से 2018-19 के बीच यात्री सेवाओं से बढ़ी रेलवे की आमदनी, पार्सल सर्विसेज से आय में कमी

4 second read
0
0

सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक 2016-17 में यात्री सेवाओं से रेलवे की आमदनी 46,280.46 करोड़ रुपये पर थी, जो वित्त वर्ष 2017-18 में 5.11 फीसद की वृद्धि के साथ 48,643.14 करोड़ रुपये पर पहुंच गई।

रेलवे ने बताया है कि वित्त वर्ष 2018-19 में यात्री सेवाओं से उसकी आमदनी 4.98% की बढ़ोत्तरी के साथ 51,066.65 करोड़ रुपये पर पहुंच गई।

रेलवे ने जानकारी दी है कि वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान उसे  पार्सल सर्विसेज से 1,911.42  करोड़ रुपये की आमदनी हुई थी। वित्त वर्ष 2017-18 में यह आंकड़ा सालाना आधार पर 8.49 फीसद की कमी के साथ 1,749.23 करोड़ रुपये पर रहा गया।

दूसरी ओर वित्त वर्ष 2018-19 में पार्सल सेवाओं से रेलवे की आमदनी 7.44 फीसद घटकर 1,619.03 करोड़ रुपये पर रह गई।

भारतीय रेलवे के परिचालन की लागत से ये आंकड़े काफी महत्व रखते हैं। उल्लेखनीय है कि इस साल कोरोनावायरस महामारी की वजह से लंबे समय तक यात्री ट्रेनों का परिचालन बंद रहा था।

Load More In बिज़नेस
Comments are closed.