Home सियासत राहुल गाँधी ने भाजपा पर लगाया बड़ा आरोप, कहा- भाजपा असम को बांटना चाहती है

राहुल गाँधी ने भाजपा पर लगाया बड़ा आरोप, कहा- भाजपा असम को बांटना चाहती है

8 second read
0
24

भाजपा और आरएसएस पर असम को विभाजित करने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को कहा कि भाजपा असम को बांटना चाहती है। क्योंकि अगर असम से चोरी करना है तो असम को बांटना पड़ेगा।

उन्होंने आगे कहा कि असम को दुनिया की कोई ताकत नहीं तोड़ सकती। जो असम कोड को छूने की कोशिश करेगा, जो असम को बांटने की कोशिश करेगा, उसको असम की जनता और कांग्रेस पार्टी मिल कर सबक सिखायेगी।

राहुल गाँधी बोले जब हम असम में सरकार में आयेंगे तो बदलाव देखने को मिलेगा। नफरत फैलाई जा रही है, वह खत्म हो जायेगी। हम हर धर्म, जाति और हर व्यक्ति की रक्षा करेंगे। हमारे युवाओं को रोजगार देंगे।

भाजपा पर आरोप लगते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा की नीति है कमजोर लोगों को मारो, गरीब लोगों को मारों और पैसा छीनों; यही भाजपा ने जीएसटी में किया है। भाजपा की नीति कमजोरों को नष्ट करना, गरीबों को नष्ट करना और उनके पैसे को छीनना है; यही काम बीजेपी ने जीएसटी के साथ किया है।

बीजेपी नेता ने कहा असम की जनता में कॉन्फिडेंस है कि मिलकर, बातचीत करके इस मामले को सुलझाया जा सकता है। लेकिन अगर यह प्रदेश फिर से फंस गया तो फिर नरेंद्र मोदी का नुकसान नहीं होगा, RSS का नुकसान नहीं होगा; ये असम का, हिंदुस्तान का नुकसान होगा।

उन्होंने कहा जितनी आपको देश की जरूरत है, उतनी देश को आपकी जरूरत है। असम में हिंसा आयेगी तो असम बंटेगा, तो हिंदुस्तान को चोट पड़ेगी। हम यह होने नहीं देंगे

राहुल गांधी ने कहा कि देश को आपकी जितनी जरूरत है, उतने की आपको जरूरत है। अगर असम में हिंसा होती है, तो असम विभाजित हो जाएगा, और भारत आहत हो जाएगा। हम ऐसा नहीं होने देंगे।

गाँधी ने कहा कि CAA के ऊपर हमने क्रॉस लगा रखा है, चाहे कुछ भी हो जाये; CAA नहीं होगा। ‘हम दो हमारे दो’ अच्छी तरह सुन लें, नहीं होगा तो नहीं होगा

उन्होंने कहा टी वर्कर को 167 रुपए मिलता है; तो टी वर्कर को 167 और गुजरात के व्यापारी को टी गार्डन। यह जानते हैं कि अगर असम से चोरी करनी है तो असम को बांटना पड़ेगा। उन्होंने आगे कहा कि एक चाय वाले को 167 रुपये मिलते हैं; इसलिए 167 में एक चाय कर्मचारी और गुजरात के एक व्यापारी के लिए एक चाय बागान। वे जानते हैं कि अगर वे असम से चोरी करना चाहते हैं, तो असम को विभाजित करना होगा।

कांग्रेस नेता बोले कांग्रेस पार्टी 200 रुपए से अधिक हर रोज टी वर्कर की जेब में डालेगी। मतलब यह जो 167 रुपए आपको मिल रहा है, इसमें हम 2 रुपए कम 200 रुपये जोड़ देंगे, मतलब 365 रुपए आपकी जेब में डालेंगे

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष बोले अगर आप पूछोगे कि 200 रुपए से अधिक टी वर्कर की जेब में डालोगे तो, पैसा कहां से आयेगा? तो मैं बताता हूं- ‘गुजरात के व्यापारी से।’ उन्होंने आगे कहा कि अगर आप पूछें कि एक चाय वाले की जेब में 200 रुपये से ज्यादा पैसा डालने के लिए पैसा कहां से आएगा, तो मैं आपको बताऊंगा- ‘गुजरात के एक व्यापारी से।

उन्होंने कहा जो आपका है, वो आपसे छीन रहा है। मजदूर भूखा मर जाता है; इनकी सरकार कुछ नहीं कर सकती। कोरोना आया, देश के मजदूर घर पैदल वापस चले गये।

नेता ने अपने सम्बोधन में आगे कहा कि मजदूरों ने बस टिकट मांगा था; नरेंद्र मोदी कह रहे थे मैं नहीं दूंगा, फिर कहा ट्रेन का टिकट तो दे दो, लेकिन ट्रेन का टिकट भी नहीं दिया। ‘हम दो हमारे दो’ और किसी को कुछ नहीं।

कांग्रेस नेता ने कहा कार्यकर्ताओं ने बस का टिकट मांगा था; नरेंद्र मोदी ने कहा कि वे नहीं देंगे, तब उन्होंने ट्रेन का टिकट मांगा, लेकिन सरकार ने ट्रेन का टिकट नहीं दिया। ‘हम करते हैं, हम करते हैं’ के लिए सब कुछ और किसी और के लिए कुछ भी नहीं।

उन्होंने कहा प्रधानमंत्री ने सबकुछ बोल दिया लेकिन किसानों के बारे में कुछ नहीं बोला। क्योंकि सिस्टम बहुत सरल है। असम जाओ, असम को बांटो और जो असम का है, वो ले लो।

उन्होंने कहा ‘हम दो, हमारे दो’ को ही एयरपोर्ट दिया। अभी तो सबकुछ लेगा, कुछ नहीं बचेगा। जो आपका है, वो यह चाहते हैं और जानते हैं कि अगर आपको बांट दिया तो जो भी लेना चाहते हैं, ले लेंगे।

राहुल गाँधी बोले हवाई अड्डों को ‘हम करते हैं, हमरे को’ दिया गया। अब सब कुछ ले लिया जाएगा, कुछ भी नहीं छोड़ा जाएगा। वे चाहते हैं कि आपका क्या है, और वे जानते हैं कि यदि आप विभाजित हैं तो वे आपसे जो चाहें ले सकते हैं।

उन्होंने कहा असम को दुनिया की कोई ताकत नहीं तोड़ सकती। जो असम कोड को छूने की कोशिश करेगा, जो असम को बांटने की कोशिश करेगा, उसको असम की जनता और कांग्रेस पार्टी मिल कर सबक सिखायेगी।

उन्होंने अपने सम्बोधन में आगे कहा नोटबंदी की, जीएसटी की और कोरोना की बात करता हूं। हिंदुस्तान में रोजगार छोटे बिजनेस, मिडिल बिजनेस, किसान और छोटे दुकानदार पैदा करते हैं, बड़े उद्योगपति पैदा नहीं करते।

राहुल गाँधी बोले आइए demonetisation, GST और Coronavirus के बारे में बात करते हैं। छोटे व्यवसाय, मध्य व्यवसाय, किसान और छोटे दुकानदार भी भारत में रोजगार पैदा करते हैं, न कि केवल बड़े उद्योगपति

कांग्रेस नेता ने कहा युवाओं के सामने सबसे बड़ा मुद्दा रोजगार का है। असम का युवा जानता है कि भाजपा सरकार हो तो असम में उसे रोजगार नहीं मिल सकता

उन्होंने कहा रोजगार छोटे व्यापारी, स्मॉल-मिडिल उद्योग, किसान पैदा करते हैं। नरेंद्र मोदी ने इन सब पर नोटबंदी, जीएसटी से आक्रमण कर इनकी रीढ़ तोड़ी

नेता ने कहा रोजगार छोटे व्यापारियों, छोटे-मध्यम उद्योगों और किसानों द्वारा उत्पन्न किया जाता है। नरेंद्र मोदी ने उन सभी पर विमुद्रीकरण और जीएसटी के साथ हमला किया और उनकी रीढ़ तोड़ दी

कांग्रेस नेता राहुल गाँधी ने कहा इसके बाद कोरोना में नरेंद्र मोदी ने ‘हम दो, हमारे दो’ का लाखों करोड़ का कर्जा माफ किया, गरीबों से फिर से पैसा छीना और फिर से कर्जा माफ किया। अब खेती के तीन बिल लाये हैं, जिससे यह खेती को खत्म करने वाले हैं। हिंदुस्तान का सबसे बड़ा बिजनेस दो लोगों को पकड़ाने जा रहे हैं:

उन्होंने आगे कहा अब उन्होंने तीन फार्म बिल पेश किए हैं जिसके जरिए वे खेती को नष्ट करने जा रहे हैं। वे दो लोगों को भारत का सबसे बड़ा कारोबार देने जा रहे हैं। जब तक हम छोटे व्यापारियों को, किसानों को, स्मॉल-मीडियम बिजनेस को मजबूत नहीं करेंगे, तब तक देश में रोजगार पैदा नहीं हो सकता। कांग्रेस पार्टी गरीबों की, किसानों की, मजदूरों, छोटे व्यापारियों और स्मॉल-मीडियम बिजनेस वालों की पार्टी है। हम जनता की पार्टी हैं

उन्होंने आगे कहा कि जब हम असम में सरकार में आयेंगे तो बदलाव देखने को मिलेगा। नफरत फैलाई जा रही है, वह खत्म हो जायेगी। हम हर धर्म, जाति और हर व्यक्ति की रक्षा करेंगे। हमारे युवाओं को रोजगार देंगे।

राहुल गाँधी आगे बोले दिल्ली और नागपुर से आदेश लेने वाली सरकार असम का भला नहीं कर सकती। आपका मुख्यमंत्री असम से हो, जो जनता के आदेश पर चले। इसलिए हम असम से बीजेपी को हटाना चाहते हैं।

उन्होंने अपने सम्बोधन में आगे कहा जो सरकार दिल्ली और नागपुर से आदेश लेती है, वह असम को लाभ नहीं पहुँचा सकती है। आपका मुख्यमंत्री असम से होना चाहिए, जो लोगों की इच्छा पर काम करता है। इसलिए हम असम से बीजेपी को हटाना चाहते हैं। यदि हिंसा असम में प्रवेश करती है, तो इसे विभाजित किया जाएगा, और भारत को चोट पहुंचाई जाएगी। हम ऐसा नहीं होने देंगे

Load More In सियासत
Comments are closed.