Home ताजा खबर 125वीं जयंती को लेकर तैयारियां तेज

125वीं जयंती को लेकर तैयारियां तेज

0 second read
0
7

125वीं जयंती को लेकर तैयारियां तेज

केन्द्र सरकार ने शनिवार को कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समिति बनाई गई है। संस्कृति मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है कि यह समिति 23 जनवरी, 2021 से शुरू होने वाले साल भर के स्मरणोत्सव की गतिविधियों पर फैसला करेगी। इस उच्च स्तरीय समिति की अध्यक्षता केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह करेंगे।

समिति के सदस्यों में प्रतिष्ठित नागरिक, इतिहासकार, लेखक, विशेषज्ञ, सुभाष चंद्र बोस के परिवार के सदस्य, साथ ही साथ आजाद हिंद फौज से जुड़े प्रतिष्ठित व्यक्ति शामिल हैं। बयान में कहा गया है कि समिति दिल्ली, कोलकाता के अलावा नेताजी और आजाद हिंद फौज से जुड़े अन्य स्थान जो विदेशों में भी हैं, उनकी गतिविधियों का भी मार्गदर्शन करेगी।

आपको बता दें कि हाल ही में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की भतीजी और शिक्षाविद चित्रा घोष का 90 वर्ष की आयु में निधन हो गया था। चित्रा घोष को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए पीएम मोदी ने नेताजी के योगदान को याद किया था और ट्वीट कर कहा था, नेताजी की बहादुरी जगजाहिर है। हम इस प्रतिभाशाली विद्वान, सैनिक और महान जन नेता की 125वीं जयंती जल्द मनाने जा रहे हैं।

आपको बता दें कि मोदी सरकार ने नेताजी की विरासत को संरक्षित करने के लिए कई कदम उठाए हैं। नई दिल्ली के लाल किले में नेताजी पर एक संग्रहालय भी स्थापित किया गया है, जिसका उद्घाटन पीएम मोदी द्वारा 23 जनवरी 2019 को किया गया था। इसके अलावा साल 2015 में तत्कालीन सरकार ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस से जुड़़ी जानकारियों से संबंधित फाइलों को आम जनता के लिए सुलभ बनाने का निर्णय भी लिया था।

Load More In ताजा खबर
Comments are closed.