Home Breaking News कोरोना वैक्सीन को लेकर पीएम बोले राजनेता कतार में न लगें और जब उनकी बारी आए तो वैक्सीन लें

कोरोना वैक्सीन को लेकर पीएम बोले राजनेता कतार में न लगें और जब उनकी बारी आए तो वैक्सीन लें

1 min read
0
12

पीएम मोदी ने सोमवार को देश में कोरोना वैक्सीनेशन की तैयारियों के बीच मुख्यमंत्रियों के साथ एक बैठक की। इसमें पीएम मोदी ने कहा अब हमारा देश कोरोना के खिलाफ लड़ाई के निर्णायक चरण में प्रवेश कर रहा है।

उन्होंने अपने सम्बोधन में आगे कहा 16 जनवरी से हम दुनिया का सबसे बड़े टीकाकरण अभियान शुरू कर रहे हैं। जिन 2 वैक्सीन को emergency use authorization दिया गया है, वो दोनों ही मेड इन इंडिया हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस अभियान में सबसे अहम जिनको टीका लगाना है उनकी पहचान और मॉनीटरिंग है। टेक्नोलॉजी के माध्यम से ‘को-विन’ नाम का एक डिजिटल प्लेटफॉर्म बनाया गया है। आधार की मदद से लाभार्थियों की पहचान भी की जाएगी और उनकों दूसरी डोज़ समय पर मिले, ये भी सुनिश्चित किया जाएगा।

उन्होंने आगे कहा प्रत्येक राज्य / केंद्र शासित प्रदेश को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि टीकाकरण से संबंधित अफवाहों को रोक कर रखा जाए। देश के भीतर और बाहर दोनों से निहित स्वार्थ हमारे प्रयासों को अवरुद्ध कर सकते हैं। हमें ऐसे सभी प्रयासों को धता बताना होगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस टीकाकरण अभियान में सबसे अहम उनकी पहचान और मॉनीटरिंग का है जिनको टीका लगाना है। इसके लिए आधुनिक टेक्नोलॉजी का उपयोग करते हुए को-विन नाम का एक डिजिटल प्लेटफॉर्म भी बनाया गया है।

उन्होंने आगे कहा कि दुनिया के 50 देशों में तीन-चार सप्ताह से वैक्सीनेशन का काम चल रहा है, लेकिन अब भी करीब-करीब 2.5 करोड़ वैक्सीन हो पाई है। अब भारत में हमे अगले कुछ महीनों में लगभग 30 करोड़ आबादी के टीकाकरण का लक्ष्य हासिल करना है।

मीटिंग के दौरान पीएम ने राजनेताओं को कोरोना वैक्सीन के लिए पहले मैं, पहले मैं से बचने की नसीहत दी। मुख्यंत्रियों के साथ बैठक में, पीएम ने यह सुनिश्चित करने पर जोर दिया कि राजनेता कतार में न लगें और जब उनकी बारी आए तो वैक्सीन लें।

मीटिंग के दौरान पीएम ने राजनेताओं को कोरोना वैक्सीन के लिए पहले मैं, पहले मैं से बचने की नसीहत दी। मुख्यंत्रियों के साथ बैठक में, पीएम ने यह सुनिश्चित करने पर जोर दिया कि राजनेता कतार में न लगें और जब उनकी बारी आए तो वैक्सीन लें।

सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि टीकाकरण कार्यक्रम को लेकर अफवाहें फैलाने की किसी को अनुमति नहीं मिले। कॉरपोरेट प्रतियोगिता और देश के भीतर और बाहर कुछ लॉबी के निहित स्वार्थ अफवाहों को हवा देने का काम कर सकते हैं।

राज्य और केंद्र शासित प्रदेश को ये सुनिश्चित करना होगा कि अफवाहों, वैक्सीन से जुड़े दुष्प्रचार को कोई हवा न मिले। देश और दुनिया के अनेक शरारती तत्व हमारे अभियान में रुकावटें डालने की कोशिश कर सकते हैं। ऐसी हर कोशिश को, देश के हर नागरिक तक सही जानकारी पहुंचाकर हमें नाकाम करना है।

उन्होंने कहा हमारी कोशिश सबसे पहले उन लोगों तक कोरोना वैक्सीन पहुंचाने की है जो दिन-रात देशवासियों की स्वास्थ्य रक्षा में जुड़े हुए हैं यानी हमारे हेल्थ वर्कर्स चाहे वो सरकारी हो या प्राइवेट।

पीएम ने कहा इसके साथ साथ हमारे जो सफाई कर्मचारी हैं, दूसरे फ्रंट लाइन वर्कर्स हैं, सैन्य बल हैं, पुलिस और केंद्रीय बल हैं, होमगार्ड्स हैं, डिजास्टर मैनेजमेंट वोलेंटियर्स समेत सिविल डिफेंस के जवान हैं, कंटेन्मेंट और सर्विलांस से जुड़े कर्मचारियों को पहले चरण में टीका लगाया जाएगा।

मोदी बोले दूसरे चरण में 50 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों को और 50 वर्ष से नीचे के उन बीमार लोगों को जिनकों संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा है, उनको टीका लगाया जाएगा।

Load More In Breaking News
Comments are closed.