Home उत्तर प्रदेश चार साल पूरे होने पर सीएम योगी ने पेश किया सरकार का लेखा-जोखा, गिनाये कई उपल्बधियां

चार साल पूरे होने पर सीएम योगी ने पेश किया सरकार का लेखा-जोखा, गिनाये कई उपल्बधियां

2 second read
0
44

नई दिल्ली : यूपी विधानसभा चुनाव होने में अभी एक साल शेष है, उससे पहले ही योगी सरकार लगातार अपने कामों से उत्तर प्रदेश की जनता का दिल जीत रही है। चाहे वह उनकी जीरो टॉलरेंस की नीति हो, या कोरोना काल के दौरान प्रवासियों सहित यूपी की जनता का भी देख-रेख। आपको बता दें कि अपने इन्हीं कामयाबियों को लेकर सीएम योगी ने प्रेस कांफ्रेंस कर चार सालों का लेखा-जोखा दिया है।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार के चार साल पूरे होने के अवसर पर आयोजित समारोह में सीएम योगी ने प्रदेश स्तरीय ‘विकास पुस्तिका’ का विमोचन किया। उन्होंने कहा कि चार साल में कई बड़े परिवर्तन हुए हैं। यूपी बीमारू राज्य से उबरा है।

सीएम योगी ने कहा कि, ”पहले की सरकारों में सोच की कमी थी जिसकी वजह से प्रदेश बीमारू हुआ था। केंद्र सरकार की सभी योजनाओं में जहां पहले उत्तर प्रदेश 23वें नंबर पर रहता था लेकिन आज अपनी कार्यनीति की वजह से पहले नंबर पर है।” उन्होंने कहा कि, ”यह वही प्रदेश है जो कभी गन्ना उत्पादन में पहले नंबर था, लेकिन पूर्व की सरकारों ने गन्ना मिलों को बंद कर इसे बर्बाद कर दिया था। मगर हमारी सरकार ने गन्ना उत्पादन को फिर से एक नए मुकाम पर पहुंचाया है जहां गन्ना किसानों को रिकॉर्ड भुगतान हुआ है।”

योगी ने दावा किया कि, ”प्रदेश में जो जीरो टॉलरेंस की नीति रही है उसका परिणाम रहा है कि डकैती, बलात्कार, भ्रष्टाचार में भारी कमी देखने को मिली है। पुलिस रिफॉर्म को लेकर काफी समय से मांग चल रही थी, जिसे सरकार ने कमिश्नरेट सिस्टम लागू कर उसे अमल में लाया, पुलिस कर्मियों को मूलभूत सुविधाओं सहित अन्य कमी को पूरा किया गया।” उन्होंने कहा कि, ”इसी प्रदेश में निवेश के लिए कोई आना नहीं चाहता था, यहां डर का माहौल था लेकिन आज प्रदेश निवेशकों की पहली पसंद बना है। बीते चार सालों में सभी पर्व पूरी शांति के साथ सम्पन्न हुए, चार सालों में कोई दंगा नहीं हुआ।”

आपको बता दें कि योगी सरकार ने चार साल की कामयाबी का जश्न मनाने के लिए आज से 26 मार्च तक कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। हर जिले में बीजेपी उत्सव मनाएगी. कार्यक्रमों में योगी सरकार के मंत्रियों के साथ-साथ पार्टी के लोग भी शामिल होंगे। वहीं ब्लॉक स्तर पर भी किसानो, मंडल स्तर पर महिलाओं और जिला पंचायत वार्ड स्तर पर युवाओं के सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.