1. हिन्दी समाचार
  2. Breaking News
  3. ‘जब तक वैक्सीन नहीं तब तक स्कूल नहीं’ मनीष सिसोदिया

‘जब तक वैक्सीन नहीं तब तक स्कूल नहीं’ मनीष सिसोदिया

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

राजधानी दिल्ली में लगातार बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों के बीच स्कूल खोलने के सवाल पर दिल्ली के डिप्टी सीएम और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा है कि जब तक वैक्सीन नहीं तब तक स्कूल नहीं। सिसोदिया ने कहा है कि इस वक्त स्कूल शुरू करना बच्चों को कोरोना की तरफ ढकेलना जैसा होगा।

सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में अभी स्कूल खुलने लायक परिस्थितियां नहीं है। अभी स्कूल खोलने का मतलब है कि अपने बहुत सारे बच्चों को कोरोना की तरफ ले जाना, वो ना आप चाहेंगे और ना मैं चाहूंगा। केंद्र सरकार से हमें सहयोग मिला है और हमने सहयोग किया भी है। इस समय आपस में लड़ने से हम कोरोना से नहीं लड़ सकते।

मुख्यमंत्री की प्रधानमंत्री के साथ हुई बैठक में केजरीवाल ने कहा कि कोरोना से हमें एक टीम के रुप में लड़ना चाहिए। हमने केंद्र से सहयोग मांगा है कि एक हजार आईसीयू बेड और मिल जाएं।

प्रदूषण के मुद्दे पर सिसोदिया ने कहा कि पराली की वजह से भी कोरोना के मामलों में उछाल आया है। हमें मिलकर एक टीम के रूप में पराली जैसी समस्याओं से निपटना होगा।

दिल्ली के डिप्टी सीएम ने मुख्यमंत्री की प्रधानमंत्री के साथ हुई बैठक के बारे में बात करते हुए कहा मुख्यमंत्री ने पीएम के सामने ये रखा कि कोरोना से हमें एक टीम के रूप में लड़ना चाहिए। हमने केंद्र से सहयोग मांगा है कि एक हज़ार आइसीयू बेड्स और मिल जाएं कोरोना बेड्स हमारे पास साढ़े 8 हज़ार खाली हैं।

दिल्ली में कोरोना के लगातार बढ़ते केस पर उन्होंने कहा दिल्ली में केस बढ़े हैं निश्चित रूप से लेकिन डेथ रेट बाकी राज़्यों के मुकाबले कम है। अहमदाबाद में डेथ रेट 4.2 है। दिल्ली में डेथ रेट 1.58 के आसपास है।

सरकार का मकसद है कि लोगों को बचाया जाए। लोगों से अपील की जा रही है कि एहतियात बरतें सख्ती भी की जा रही है। मार्केट में अगर भीड़ बढ़ती है तो हम सख़्ती बढ़ाएंगे त्योहार के दौरान भीड़ की उम्मीद थी अब पुलिस की सख़्ती है कि भीड़ न हो पाए।

डिप्टी सीएम ने कहा सुप्रीम कोर्ट ने जो कोरोना पर कहा है हमें उसे संज्ञान में लेना चाहिए। दिल्ली की तरफ़ से सुप्रीम कोर्ट को हम बताएंगे कि हमने टेस्टिंग बढ़ाई है। हमारे यहां सबसे ज़्यादा टेस्टिंग हुई है। हम 60 हज़ार से ज़्यादा टेस्ट रोज़ कर रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...