Home Breaking News कोरोना संक्रमण दर में गिरावट को देखते हुए दिल्ली में रात का कर्फ्यू लगाने की नही है संभावना: सूत्र

कोरोना संक्रमण दर में गिरावट को देखते हुए दिल्ली में रात का कर्फ्यू लगाने की नही है संभावना: सूत्र

0 second read
0
4

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के संक्रमण से बेहतर होते हालात को देखते हुए अब रात्रि कर्फ्यू लगाए जाने की संभावना नहीं है, क्योंकि सरकार के सूत्रों का कहना है कि कई दिनों से यहां संक्रमण की दर अब कम हो रही है और नए मामलों में भी कमी आ रही है।

कोरोना केस में आई कमी को देखते हुए सरकार फिलहाल कोई नई पाबंदी नहीं लगाएगी। दिल्ली हाईकोर्ट के पूछने पर दिल्ली सरकार ने कहा कि संक्रमण पर काबू पाने के लिए कुछ नई पाबंदियों पर विचार किया जा रहा है।

आप को बता दे कि इससे पहले दिन में दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि दिल्ली में संक्रमण दर में नवंबर की शुरुआत के बाद से करीब 55 फीसद की गिरावट आयी है तथा अगले दो सप्ताहों में इसमें और कमी आएगी।

उन्होंने कहा, ‘‘ दिल्ली में संक्रमण दर सात नवंबर के 15.26 फीसद से घटकर 7.35 फीसद पर आ गयी है।” वैसे जब जैन से दिल्ली में रात के कर्फ्यू की संभावना के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा था, ‘‘ हम नजर रख रहे हैं कि क्या कदम उठाया जाना है। हम देखेंगे कि यह (संक्रमण दर) गिरती है या पलटती है।”

बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट ये जानना चाहती थी कि क्या सरकार के पास रात या वीकेंड पर कर्फ्यू लगाने की कोई योजना है, तो इस पर दिल्ली सरकार की ओर से बताया गया था कि किसी तरह के कर्फ्यू पर अभी फैसला नहीं हुआ है ,लेकिन इस पर सक्रियता से बात हो रही है।

सरकार ने कहा कि अगर कोरोना के मामले बढ़ना जारी रहते हैं तो दिल्ली में कुछ पाबंदियां वापस लगाई जा सकती हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने नई गाइडलाइंस में राज्यों को नाइट कर्फ्यू या वीकेंड पर पाबंदियां लगाने की छूट दी है लेकिन लॉकडाउन लागू करने से पहले अनुमति लेनी होगी।

आप को बता दे कि पिछले सप्ताह दिल्ली सरकार ने उच्च न्यायालय में कहा था कि वह तीन से चार दिनों में यह तय करेगी कि राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना के प्रसार को थामने के लिए रात का कर्फ्यू लगाया जाए या नहीं।

सूत्र ने कहा, ‘‘ कर्फ्यू लगाने के बारे में सरकार द्वारा निर्णय लिये जाने का संबंध संक्रमण दर से है। चूंकि संक्रमण दर में काफी गिरावट आयी है यानी संक्रमण कम हो रहा है , ऐसे में ऐसी संभावना कम है कि सरकार रात के कर्फ्यू का पक्ष लेगी।”

गृह मंत्रालय ने 25 नवंबर को जारी अपने दिशानिर्देशों में का था कि राज्य एवं केंद्रशासित प्रदेश अपने आकलन के आधार पर कोरोना के प्रसार के रोकथाम के लिए रात के कर्फ्यू जैसी स्थानीय पाबंदियां लगा सकती हैं।

Load More In Breaking News
Comments are closed.