Home Breaking News प्रदूषण से निपटने को दिल्ली सरकार की नई पहल, ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ अभियान की शुरुआत

प्रदूषण से निपटने को दिल्ली सरकार की नई पहल, ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ अभियान की शुरुआत

1 min read
0
7

राजधानी दिल्ली में तेजी से बढ़ते प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए दिल्ली की केजरीवाल सरकार अपने स्तर पर सभी तरीकों को प्रयास कर रही है। इसके तहत प्रदूषण की अनदेखी करने वालों पर लाखों का जुर्माना तक लग रही है।

दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण से निपटने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज से ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ अभियान की शुरुआत की है। सीएम केजरीवाल ने लोगों से अपील की है कि अब से सभी लोग रेड लाइट पर अपनी गाड़ी ऑफ कर देंगे।

केजरीवाल ने कहा, “हम सब लोग आज एक संकल्प लेंगे कि रेड लाइट पर हम अपनी गाड़ी ऑफ करेंगे। दिल्ली में एक करोड़ गाड़िया रजिस्टर्ड हैं। अगर 10 लाख वाहन भी रेड लाइट पर अपनी गाड़ी बंद करना शुरू कर दें तो विशेषज्ञों ने मुझे गणना करके दी है कि साल में PM 10 प्रदूषण 1.5 टन कम हो जाएगा और PM 2.5 प्रदूषण 0.4 टन कम हो जाएगा।”

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि एक गाड़ी रोज तकरीबन 15-20 मिनट रेड लाइट पर बिताती है और उसमें तकरीबन 200 ML तेल की खपत होती है। अगर आप रेड लाइट पर गाड़ी बंद करना शुरू कर दें तो आपके 7000 रुपये साल के बच सकते हैं।

मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में करीब एक करोड़ वाहन पंजीकृत हैं। अगर 10 लाख वाहन चालक भी रेड लाइट पर अपनी गाड़ी बंद करना शुरू कर दें तो विशेषज्ञों ने मुझे गणना करके दी है कि साल में PM 10 प्रदूषण 1.5 टन कम हो जाएगा और PM 2.5 प्रदूषण 0.4 टन कम हो जाएगा।

आप को बता दे कि दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण से निपटने के लिए जनरेटरों के इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई है। दिल्ली समेत दिल्ली के अस्स पास के इलाको में जरूरी व आपात सेवाओं को छोड़कर डीजल जनरेटरों के इस्तेमाल पर पूर्ण पाबंदी रहेगी। हाईवे और मेट्रो जैसी बड़ी परियोजनाओं में निर्माण कार्य के लिए पहले भी राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से मंजूरी लेनी होगी।

Load More In Breaking News
Comments are closed.