1. हिन्दी समाचार
  2. खेल
  3. मिताली राज ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से रिटायरमेंट का किया ऐलान, पढ़ें

मिताली राज ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से रिटायरमेंट का किया ऐलान, पढ़ें

23 साल के लंबे अंतरराष्ट्रीय करियर के बाद भारतीय कप्तान मिताली राज ने सभी फॉर्मेट से रिटायरमेंट का ऐलान किया। मिताली राज को महिला क्रिकेट की सचिन तेंदुलकर कहा जाता है क्योंकि इन दोनों खिलाड़ियों ने कम उम्र में डेब्यू कर लंबे समय तक भारतीय क्रिकेट को अपनी सेवाएं दी।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

23 साल के लंबे अंतरराष्ट्रीय करियर के बाद भारतीय कप्तान मिताली राज ने सभी फॉर्मेट से रिटायरमेंट का ऐलान किया। मिताली राज को महिला क्रिकेट की सचिन तेंदुलकर कहा जाता है क्योंकि इन दोनों खिलाड़ियों ने कम उम्र में डेब्यू कर लंबे समय तक भारतीय क्रिकेट को अपनी सेवाएं दी।

26 जून 1999 को इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने वालीं मिताली राज ने अपना आखिरी मुकाबला महिला वर्ल्ड कप 2022 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला, इस मैच में टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा साथ ही टीम लीग स्टेज से ही बाहर हो गई। मिताली राज के रिटायरमेंट के बाद उनकी तुलना भारतीय पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से होने लगी।

ऐसे में रिटायर होने के बाद दोनों खिलाड़ियों के बीच एक दो नहीं बल्कि 5 समानताएं निकली जिसे देखने के बाद हर कोई हैरान है।  दोनों ने भारत के लिए सबसे ज्यादा मैचों में कप्तानी की धोनी ने बतौर कप्तान टीम इंडिया का 332 बार प्रतिनिधित्व किया, वहीं मिताली राज की कप्तानी में भारतीय महिला टीम 195 बार खेली धोनी और मिताली राज ने भारत के लिए आखिरी मुकाबला वनडे वर्ल्ड कप में खेला- इस दौरान दोनों ही खिलाड़ियों ने अर्धशतक जड़ा- धोनी और मिताली के अर्धशतक के बावजूद टीम को हार का सामना करना पड़ा और भारत वर्ल्ड कप से भी बाहर हुआ।

वर्ल्ड कप के बाद दोनों खिलाड़ियों ने बिना फेयरवेल मैच के रिटायरमेंट लिया। बता दें, महेंद्र सिंह धोनी ने इंग्लैंड में हुए 2019 वर्ल्ड में अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में भारत न्यूजीलैंड के हाथों हारकर बाहर हुआ था। धोनी ने अगले साल 15 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया था।

मिताली ने अपना पंहला इंटरनेशनल मैच 26 जून 1999 को आयरलैंड के खिलाफ खेला था। वह एक वनडे मैच था। उन्होंने आखिरी इंटरनेशनल मैच 27 मार्च 2022 को साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला। यानी मिलाती का इंटरनेशनल करियर 22 साल, 274 दिन तक चला। यह महिला क्रिकेट में वर्ल्ड रिकॉर्ड है। मिताली राज ने अपने वनडे करियर में 7805 रन बनाए। वे इस फॉर्मेट में 7 हजार रन का आंकड़ा पार करने वाली दुनिया की पहली और अब तक की इकलौती महिला बल्लेबाज हैं।

तीनों फॉर्मेट को मिलाकर मिताली राज के नाम इंटरनेशनल क्रिकेट में 10,868 रन हैं। महिला क्रिकेट में यह भी वर्ल्ड रिकॉर्ड है। मिताली की कप्तानी में महिला टीम इंडिया 2005 और 2017 वनडे वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची। भारतीय टीम दोनों मौकों पर खिताब नहीं जीत पाईं लेकिन मिताली भारत की इकलौती ऐसी कप्तान बन गईं जिन्होंने बतौर कप्तान दो वनडे वर्ल्ड कप का फाइनल खेला। यह रिकॉर्ड पुरुष क्रिकेट में किसी भारतीय कप्तान के नाम दर्ज नहीं है–मिताली ने अपने करियर में 155 वनडे मैचों में भारत की कप्तानी की।

महिला क्रिकेट में यह वर्ल्ड रिकॉर्ड है। इनमें 89 मैचों में भारतीय टीम को जीत मिली। 63 में टीम को हार का सामना करना पड़ा और 3 मैच नो-रिजल्ट रहे–मिताली राज ने 6 वनडे वर्ल्ड कप में भारतीय टीम का प्रतनिधित्व किया। महिला क्रिकेट में यह वर्ल्ड रिकॉर्ड है। पुरुष क्रिकेट में भारत के ही सचिन तेंदुलकर ने 6 वर्ल्ड में हिस्सा लिया था।

मिताली राज ने 16 साल 205 दिन की उम्र में वनडे क्रिकेट में अपना पहला शतक जमाया था। महिला क्रिकेट में यह आज भी वर्ल्ड रिकॉर्ड है–मिताली राज ने 2017 वनडे वर्ल्ड कप में लगातार सात अर्धशतक जमाया था। यह वर्ल्ड में लगातार सबसे ज्यादा अर्धशतक जमाने का रिकॉर्ड है।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...