1. हिन्दी समाचार
  2. Breaking News
  3. मध्यप्रदेश: लव जेहाद के खिलाफ कानून जल्द, अगले सत्र में विधेयक लाएगी शिवराज सरकार

मध्यप्रदेश: लव जेहाद के खिलाफ कानून जल्द, अगले सत्र में विधेयक लाएगी शिवराज सरकार

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार ‘लव जिहाद’ पर विधेयक लाने पर विचार कर रही है। मंगलवार को मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि अगले ही सत्र में विधानसभा में बिल पेश कर दिया जाएगा।

इसके तहत दोषी को पांच साल की कैद का प्रावधान होगा। इससे पहले यूपी की योगी सरकार और हरियाणा के मंत्री अनिल विज भी लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने की बात कर चुके हैं लेकिन किसी ने यह नहीं बताया कि कानून कब बनाया जाएगा।

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, अगर कोई स्वेच्छा से धर्म परिवर्तन कर शादी करना चाहेगा तो उसे एक महीने पहले जिलाधिकारी के सामने प्रार्थना पत्र देना होगा। लेकिन धोखे से, जबरन या बलपूर्वक की गयी शादी इस कानून के बाद रद्द मानी जायेगी। इससे पहले उत्तर प्रदेश और हरियाणा सरकार भी लव जेहाद के खिलाफ कानून बनाने की बात कह चुकी है।

नरोत्तम मिश्र ने कहा, ‘मध्य प्रदेश धर्म की स्वतंत्रता बिल 2020 पर काम हो रहा है। इसके तहत किसी को दोषी पाए जाने पर उसे 5 साल कैद की सजा का प्रावधान किया जाएगा। यह गैरजमानती अपराध होगा।

अगर किसी का धर्म बदलवाने के लिए लालच देकर या फिर दबाव में शादी की जाएगी तो इसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। जो लोग इस अपराध में सहयोगी होंगे उन्हें भी इसमें बराबर का भागीदार माना जाएगा।’

शिवराज के मंत्री ने कहा, ‘इसके तहत जिस शख्स का धर्मांतरण हुआ है उसे या उसके परिवार केसदस्य को शिकायत दर्ज करानी होगी। अगर कोई धार्म गुरु धर्मांतरण करवाता है तो उसे एक महीने पहले डीएम को इसकी जानकारी देनी होगी। यह बिल अगले सत्र में सदन में पेश किया जाएगा।’

कर्नाटक के गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने भी कहा था कि ‘लव जिहाद’ एक सामाजिक बुराई है और इससे निपटने के लिए देश में एक कानून लाने की जरूरत है। उन्होंने बताया था कि कर्नाटक सरकार इस संबंध में विशेषज्ञों के साथ कानूनी संभावनाओं पर विचार-विमर्श कर रही है।

वहीं हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा था कि हरियाणा में ऐसे मामलों की जांच कराई जाएगी। उन्होंने कहा था कि ‘लव जिहाद बहुत गंभीर होता जा रहा है। राज्य के DGP को इसको लेकर आदेश दिए गए हैं।

जब से हरियाणा बना है तब से लेकर अब तक के सभी मामले उजागर होंगे। धर्म परिवर्तन करके शादी करवाने के या शादी करके बाद में धर्म परिवर्तन करवाया हो, ऐसे सभी मामले सामने लाए जाएंगे।’

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...