Home उत्तर प्रदेश बाल-बाल बचे मुख्तार ने रास्ते में नहीं पिया पुलिस के हाथ से पानी, तीन बार बदला गया रास्ता

बाल-बाल बचे मुख्तार ने रास्ते में नहीं पिया पुलिस के हाथ से पानी, तीन बार बदला गया रास्ता

1 min read
2
1,373

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

प्रयागराज: पूर्वांचल का माफिया मुख्तार अंसारी बीती रात सकुशल यूपी के बांदा जेल पहुंचाया गया। मुख्तार को बांदा जेल के बैरक नंबर 15 में रखा जायेगा। मुख्तार का बैरक नंबर 15 से पुराना नाता है, इससे पहले भी जब उसको गिरफ्तार किया गया था, तो उसको बैरक नंबर 15 में ही रखा गया था। मिली जानकारी के मुताबिक बैरक नंबर 15 तन्हाई सेल है। इसका मतलब यह हुआ कि मुख्तार के साथ कोई और कैदी नहीं रहेगा।

आइये जानते हैं, क्या खिलाया गया उसको, और क्या इंतजाम थे…

पंजाब की रोपड़ जेल से यूपी का काफिला मुख्तार की कस्टडी लेकर चला। इस दौरान यूपी पुलिस के काफिले में  88 पैकेट डिनर सप्लाई किया गया था। जिसमें 200 ml की 238 बोतलें दी गई थी। मुख्तार को अलग से खाने का पैकेट दिया गया था। खास बात यह है कि रास्ते में मुख्तार यूपी पुलिस के हांथो पानी तक नहीं पिया।

पुलिस का काफिला जेवर के इलाके में एक पेट्रोल पंप पर एंबुलेंस और गाड़ियों में तेल भरवाया। पुलिस का काफिला शाम करीब 6 बजे के आस-पास उत्तर प्रदेश की सीमा में प्रवेश किया। इस दौरान मुख्तार की एम्बुलेंस के आगे-पीछे और अगल-बगल पुलिस के वाहनों का काफिला चल रहा था।

रास्ते में पुलिस काफिले का रुट तीन बार बदला गया, इटावा के बाद कानपुर देहात के सिकंदरा से अचानक रूट बदल दिया गया. रात डेढ़ बजे सिकंदरा पहुंचे काफिले को अचानक भोगनीपुर की तरफ मोड़ दिया गया. सिकंदरा से काफिला राजपुर होते हुए भोगनीपुर और यहां से मूसानगर होते हुए घाटमपुर और फिर हमीरपुर पहुंचा। यहां से अचानक पुलिस की गाड़िया भरुआ सुमेरपुर की ओर मुड़ गईं। लेकिन सुबह पांच बजे यूपी पुलिस मुख्तार अंसारी को लेकर बांदा मंडल जेल पहुंच गई।

 

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.