1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. जानिए क्या है ब्लैक फंगस के लक्षण और उपाय, इन अफवाहों पर बिल्कुल ना दें ध्यान, नहीं तो जा सकती है जान !

जानिए क्या है ब्लैक फंगस के लक्षण और उपाय, इन अफवाहों पर बिल्कुल ना दें ध्यान, नहीं तो जा सकती है जान !

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : कोरोना महामारी के दौरान देश में सामने आये दो और महामारी ने लोगों को बड़ी मुसीबत खड़ी कर दी है। क्योंकि एक तरफ जहां कोरोना ने लोगों को रोने को मजबूर कर दिया है। वहीं इसी से जुड़ी दो और अन्य महामारी ने लोगों के सांसों को अटका रखा है। गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों लगातार ब्लैक और ह्वाइट फंगस की खबरें सामने आ रहे है। लेकिन आज हम आपके सामने ब्लैक फंगस की चर्चा करेंगे और इनसे जुड़े अफवाहों की भी जो आपके लिए बड़ी मुसीबत हो सकता है।

कैसे समझें कि ब्लैक फंगस ने हमला कर दिया है?

अगर आपको नाक में दिक्कत महसूस हो रहा हो

अगर आपको सिरदर्द हो

चेहरे के एक हिस्से में दर्द महसूस हो या वो सूज जाए

चेहरा सुन्न पड़ रहा हो

चेहरे का रंग बदल रहा हो

पलकें सूजने लगी हों

दांत हिलने लगे

 

अगर ब्लैक फंगस ने आपके फेफड़े पर आक्रमण कर दिया है तो ये लक्षण दिखेंगे…

बुखार

सांस लेने में दिक्कत

कफ

खंखार में खून आना

सीने में दर्द

धुंधला दिखाई पड़ना

 

आगर आपको ये लक्षण दिखें तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। दवाइयों से भी इसका इलाज हो जाता है। कुछ मौकों पर सर्जरी भी करनी पड़ती है। इसलिए अगर आपको डाइबिटीज है और कोरोना से संक्रमित हो गए हैं तो अपना ब्लड शुगर नियमित तौर पर चेक करते रहें और शुगर की दवाई बिल्कुल संभल कर लें।

 

कितना खतरनाक, क्या है इलाज

यह नाक या मुंह के जरिए शरीर में प्रवेश करता है। दूसरे चरण में यह आंख को प्रभावित करता है और तीसरे चरण में यह दिमाग पर अटैक करता है।” चार से छह हफ्ते तक दवाइयां लेनी पड़ती हैं। गंभीर मामलों में तीन-तीन महीने तक इलाज चलता है।

 

इन अफवाहों पर न दें ध्यान

  1. कुछ कच्चा खाने (Raw Food) से फंगल इन्फेक्शन हो रहा है
  2. जहां तहां से लाए गए सिलिंडर से कोरोना मरीज को ऑक्सिजन सपॉर्ट देने के कारण
  3. किसी खास स्थान पर ही हो रहा है। हकीकत यह है कि होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना मरीज में फंगल इन्फेक्शन देखा जा रहा है।

ध्यान हो कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने भी गुरुवार को ब्लैक फंगस के बढ़ते खतरे को लेकर चिंता जताई है। उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “ब्लैक फंगस के केस देश में जगह-जगह आ रहे हैं, सरकार और विशेषज्ञों के माध्यम से सभी संबंधित जानकारियां दी जा रही हैं। इसकी दवाई के उत्पादन को बढ़ाने के भी प्रयास किए जा रहे हैं।”

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads